बिड़ला विद्या मंदिर नैनीताल में ऑल इंडिया आईपीएससी ताइक्वांडो प्रतियोगिता शुरू


नैनीताल l ताइक्वांडो चैंपियनशिप 2024 का आयोजन किया जा रहा है जिसमें देश भर के प्रतिष्ठित विद्यालयों की टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। प्रतियोगिता 26 और 27 जून 2024 को आयोजित की गई है।
प्रतिभाग करने वाली टीमों में बिरला विद्या मंदिर नैनीताल, असम वैली स्कूल असम, हैदराबाद पब्लिक स्कूल हैदराबाद, एम्राल्ड हाइट इंटरनेशनल स्कूल इंदौर, संस्कार वैली स्कूल भोपाल, राज कुमार कॉलेज राजकोट, पेस्टल वीड स्कूल देहरादून, जीडी बिड़ला स्कूल रानीखेत आदि प्रमुख रूप से हैं। अतिथियों का स्वागत करते हुए बिड़ला के प्रधानाचार्य अनिल कुमार शर्मा ने कहा की कि सम्मानित अतिथिगण, शिक्षकों, अभिभावकों और प्यारे विद्यार्थियों,आज हमें इस शानदार ताइक्वांडो प्रतियोगिता के अवसर पर एकत्रित होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। ताइक्वांडो, एक कोरियाई मार्शल आर्ट, न केवल शारीरिक फिटनेस और आत्मरक्षा के लिए जाना जाता है, बल्कि यह आत्म-नियंत्रण, अनुशासन, और मानसिक शक्ति का भी अद्भुत समावेश करता है। आज की इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को मैं हार्दिक बधाई देना चाहता हूँ। प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में हॉकी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी नरेन्द्र सिंह बिष्ट मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे ने अपने संबोधन में कहा कि आज यह एक वैश्विक खेल बन चुका है। 2000 से ओलंपिक खेलों में शामिल होकर इसने अपनी महत्वता और लोकप्रियता को और भी बढ़ा दिया है। इस खेल के माध्यम से न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक विकास भी होता है, जो हमारे बच्चों और युवाओं के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस खेल का अभ्यास करने से बच्चों में आत्म-विश्वास और संयम का विकास होता है। कठिन परिश्रम, समर्पण और दृढ़ता की आवश्यकता होने के कारण, ताइक्वांडो हमारे जीवन के हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए प्रेरित करता है। यह हमें सिखाता है कि कठिनाइयों का सामना कैसे किया जाए और हर चुनौती को अवसर में कैसे बदला जाए। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि उत्तराखंड ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष मुखर्जी निर्वाण, बिड़ला विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनिल कुमार शर्मा, वित्त प्रबंधक संजय गुप्ता आईपीएससी के ऑबजर्वर राकेश शर्मा, उप प्रधानाचार्य राकेश मुलासी, हेड मास्टर अजय शर्मा, पृथ्वीराज सिंह किरोला, लीला सिंह बिष्ट केदार सिंह गड़िया, जतिन ग्रोवर, आकाश बिष्ट आदि उपस्थित थे।

Advertisement
Advertisement
Ad
Advertisement
Advertisement