कुमाऊं के प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा को प्रयोगांक नैनीताल द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की

Advertisement

नैनीताल l कुमाऊं के प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा को प्रयोगांक नैनीताल द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की गई। लोक गायक प्रहलाद मेहरा को याद करते हुए प्रयोगाक संस्था के सदस्यों द्वारा कहा गया की सरल सहज और मृदु भाषी प्रहलाद मेहरा जी द्वारा “पहाड़े की चेली ले, पहाड़े की ब्वारी ले, कभे नि खायो दुइ रवट सुख ले…” जैसा गीत गा आज से लगभग 30 से 35 वर्ष पूर्व पहाड़ की महिलाओ की समस्या को प्रस्तुत किया था… इसी तरह के कई ऐसे और गीत जो पहाड़ की सुंदरता और संघर्ष को अभिव्यक्त करते है…
ऐसे गीतकार और लोक गायक का असमय जाना अविश्वासनीय हैं… ये उत्तराखंड लोक संस्कृति के लिये बहुत बड़ी क्षति हैँ… श्रद्धांजलि देने वालों मे मुकेश धस्माना, मिथिलेश पांडे, उमेश कांडपाल, मदन मेहरा, रोहित वर्मा, नीरज डालाकोटी, भुवन कुमार, रवि नेगी, चित्रलेखा, योगिता, राहुल, अनवर, नसीर, पवन कुमार आदि शामिल रहे.

Advertisement