राजकीय प्राथमिक विद्यालय इन्दिरा कालोनी, देहरादून में बच्चों के साथ होली खेली,

Advertisement


देहरादून l राजकीय प्राथमिक विद्यालय इन्दिरा कालोनी, देहरादून में सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी एस. चन्द्रा ने होली के पवित्र त्यौहार पर रसायनयुक्त रंगों के चलन को रोकना व प्राकृतिक रंगों के प्रति छात्र-छात्राओं एवं विद्यालय के शिक्षिकाओं सहित होली पर क्या करें और क्या न करें कि जिससे होली की गरिमा बनी रहे ज़िससे हमारे शरीर पर रसायनिक रंगों का कम से कम दुष्प्रभाव पड़े पर अपने विचार व्यक्त करते हुए बोल रहे थे,
होली के दिन सुबह ही अपने शरीर पर नारियल का तेल या क्रीम अवश्य लगा लें, ये आपको रसायनिक रंगों से बचाने में सक्षम है। यह रंग के रसायन को त्वचा में जाने से रोकेगा तथा बाद में रंगो को धोने में भी आसानी होगी। अपने बालों में तेल लगायें ताकि रंगों की डाई आपके बाल तथा सिर की त्वचा को नुकसान ना पहुंचाये। ऐसे वस्त्र पहनें जो आपके शरीर के ज्यादातर भाग को ढक कर रखें। पूरे बाजू की शर्ट और पेन्ट के साथ ही जुराब पहन लें। यदि आंखों में रंग चला गया हो तो सादे पानी के खूब छींटे मारें तथा धूप के चश्मे का प्रयोग करें। प्राकृतिक व हर्बल रंगों से ही होली खेलें। होली खेलने के दौरान बार-बार अपना मुंह पानी से न धोयें, इससे त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। रंग छुड़ाने के लिये हल्के गर्म पानी का प्रयोग करें। रंग लगने से त्वचा सूखी हो जाती है। यदि कोई रंग न छूटे तो उसे दही व बेसन के लेप से छुटायें।
बच्चों के साथ अध्यापिकाओं ने भी रंग लगा कर होली खेली, इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी एस. चन्द्रा, अध्यापिका श्रीमती अर्चना रूहेला, सुश्री ललिता नौडियाल, श्रीमती रोशनी केष्टवाल, श्रीमती रिंकी देवी, श्रीमती मिथलेश मोघा एवं विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया.

Advertisement