रिसाव हो रहे पानी का होगा उपयोग-तल्लीताल में बदलेगी जल की स्थिति

Advertisement
Ad

नैनीताल। बलियानाले क्षेत्र में लम्बे समय से रिसाव हो रहे पानी से भूस्खलन का खतरा बना हुआ था। जिसके कारण बलियानाले के आसपास के क्षेत्र में भी भूकटाव हो रहा था। अब बलियानाले क्षेत्र में पानी के रिसाव से न ही केवल भूस्खलन पर रोक लगेगी, बल्कि इसका उपयोग पेयजल के लिए भी होगा। इस समस्या के समाधान के लिए तल्लीताल जीआईसी स्कूल में पानी की बोरिंग की जाएगी। बोरिंग के लिए सिंचाई विभाग की ओर से जल संस्थान को पैसा दिया जाएगा।और जल संस्थान की तरफ से बोरिंग का कार्य किया जाएगा। इस बोरिंग से तल्लीताल क्षेत्र की लगभग सात हज़ार की आबादी को पेयजल आपूर्ति करवाई जाएगी।
इस कदम से पेयजल की आपूर्ति के लिए अब झील से पानी नहीं लेना पड़ेगा। इसके लिए जल संस्थान ने लगभग एक करोड़ 67 लाख के टेंडर निकाल दिए हैं।
बलिया नाला प्रोजेक्ट के तहत जीआईसी स्कूल में बोरिंग का काम किया जाना है।
जिसके लिए सिंचाई विभाग की ओर जल संस्थान को पैसा दिया जाएगा।
अनिल कुमार वर्मा , अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग
जल संस्थान की ओर से बोरिंग के कार्य के लिए 167 लाख के टेंडर की प्रक्रिया गतिमान है।
लगभग बीस दिन के बाद बोरिंग का काम शुरू कर दिया जाएगा।
डीएसए बिष्ट, सहायक अभियंता जल संस्थान

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement