डीएसबी परिसर में इग्नू टीम द्वारा पौधारोपण किया

नैनीताल l डीएसबी परिसर में आज इग्नू टीम द्वारा पौधारोपण किया। इग्नू की टीम द्वारा पारिजात के पौधे का रोपण किया। परिजात किन्नूर उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले के किनूर में गोरखचिंच से संबंधित है ।सांस्कृतिक एवम पौराणिक दृष्टि से महत्व पूर्ण है । मान्यता है की महाभारत में माता कुंती के आग्रह पर अर्जुन इस वृक्ष को धरती पर लाए ।नारद मुनि ने श्री कृष्ण को भेट में परिजात का पौधा दिया था । 1000 वर्ष की आयु वाला परिजात पुस्प माता लक्ष्मी को प्रिय तथा परिजात मनोकामनापूर्ण करने वाला माना गया है निक्टेंथस आर्बोट्राइटिस वानस्पतिक नाम तथा कोरल जैस्मिन ,इंडियन मैग्नोलिया के नाम से जाना जाता है ।इग्नू समन्वयक प्रो ललित तिवारी के नेतृत्व में पौधारोपण कार्य संपन्न हुआ । प्रो तिवारी ने कहा की बरसात का आगमन पर आज इग्नू टीम द्वारा अपनी जिम्मेदारी के एवज में पौधे रोपे जिससे प्रकृति हरी भरी तथा हवा शुद्ध होती रहे । आज का पौधारोपण वर्गीकरण शास्त्री स्वर्गीय प्रो यशपाल सिंह पांगती ,स्वर्गीय डॉक्टर रणबीर सिंह रावल ,स्वर्गीय स्वर्गीय डॉक्टर सुचेतन साह को समर्पित रहा तथा उनकी स्मृति में पौधारोपण हुआ ।परिजात के पौधे डॉक्टर हिमानी कार्की द्वारा उपलब्ध कराए गए ।पौरारोपण में। डॉक्टर नवीन पांडे ,नंदा बल्लभ पालीवाल, डॉक्टर संदीप मैंडोलिया , गोपाल बिष्ट ,,कुंदन सिंह ,,विकास ,सूरज , सहित इग्नू के विद्यार्थी शमिल रहे ।

Advertisement
Advertisement
Ad
Advertisement
Advertisement