समाज को नशा मुक्त बनाने के लिए साइकिल से कर रहे हैं संकल्प यात्रा

Advertisement
Ad

15 वर्षीय कृष्ण कुमार और आदित्य खोलिया पूरे पिथौरागढ़ की यात्रा कर लोगों को नशे के खिलाफ जागरूक करेंगे। घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा 8 सालों से नशे को लेकर जिले और पूरे देश में अभियान किए जाते रहे हैं। आज उसी क्रम में संस्था के कृष्ण कुमार और आदित्य ने साइकिल यात्रा के माध्यम से लोगों को नशे के खिलाफ जागरूक करने का संकल्प लिया है। आज जिलाधिकारी रीना जोशी से मिलकर उन्होंने बताया की वह पूरे पिथौरागढ़ के 8 ब्लॉकों में 5000 से अधिक लोगों से मिल उन्हें जागरूक करेंगे और नशे को कैसे छोड़ना है और कैसे उस से बचना है यह जागरूकता लोगों तक फैलाएंगे। 15 वर्षीय कृष्ण संस्था में विगत 8 सालों से रहते हैं , वह एक एथलीट हैं और उनके जीवन का लक्ष्य समाज को सही राह पर लाने का है। बचपन से ही खेलों से जुड़े कृष्ण खेलों के माध्यम से ही लोगों को जागरूक करना चाहते हैं। उन्होंने जिलाधिकारी को बताया की अगर साहसिक खेल और अन्य खेलों को बढ़ावा मिले तो बच्चों में नशे की प्रवृत्ति को कम किया जा सकता है। इस काम में कृष्ण के मित्र आदित्य खोलिया भी उनका साथ दे रहे है। उन्होंने कहा की मुझे साइकिल यात्रा पसंद है और मुझे खुशी है इस संकल्प यात्रा में मैं भी लोगों को जागरूक कर पाऊंगा। जिलाधिकारी ने कहा की जिले में नशा विरोधी दिवस मनाए जा रहे हैं और ऐसे में घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी के बच्चों की यह पहल अदभुत है और तारीफ के योग्य है। उन्होंने कहा की प्रशासन इसमें संस्था का पूरा सहयोग करेगा। उन्होंने हरा झंडा दिखा कर यात्रा का शुभारंभ किया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक से भी मिलकर बच्चों द्वारा यात्रा का विवरण दिया गया और सहयोग की बात कही गई। पुलिस अधीक्षक द्वारा भी इस मुहिम की सराहना की गई और हर संभव सहयोग देने की बात कही। पिथौरागढ़ के बाद कृष्ण कुमार पूरे उत्तराखंड में 600 किलोमीटर की जागरूकता दौड़ करेंगे जो की अब तक किसी भी 15 वर्षीय बच्चे द्वारा की गई सबसे बड़ी जागरूकता दौड़ होगी। नशे के विरुद्ध इस जागरूकता संकल्प यात्रा में संस्था के गिरीश चंद्र अहम भूमिका निभा रहे हैं। संस्था अध्यक्ष ने बताया की आने वाले 1 वर्ष में कृष्ण द्वारा पूरे जिले, राज्य और देश में ऐसे जागरूकता अभियान किए जाएंगे। उन्होंने कहा की युवा वर्ग को इसकी जरूरत है और संस्था इस पर ग्रासरूट लेवल पर बहुत गहराई से कार्य कर रही है।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement