उत्तराखंड सरकार के उच्च शिक्षा विभाग के तहत संचालित देवभूमि उद्यमिता योजना के तहत कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल स्थित परिसर में दो दिवसीय स्टार्टअप बूटकैंप शुरू

Advertisement

भीमताल l उत्तराखंड सरकार के उच्च शिक्षा विभाग के तहत संचालित देवभूमि उद्यमिता योजना के तहत कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल स्थित परिसर में दो दिवसीय स्टार्टअप बूटकैंप प्रारंभ किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित बिड़ला संस्थान भीमताल के निदेशक प्रोफेसर वीoकेo सिंह ने वैश्विक स्तर पर भारतीय अर्थव्यवस्था के उभार में स्टार्टअप के उल्लेखनीय योगदान का जिक्र करते हुए नव युवाओं को इस दिशा में प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुमाऊं विश्वविद्यालय की भीमताल परिसर के निदेशक प्रोफेसर एलo केo सिंह ने उद्यमिता योजना पर प्रकाश डालते हुए स्वरोजगार हेतु राज्य सरकार की योजना को महत्वपूर्ण बताते हुए स्टार्टअप की नवीन थीम पर प्रकाश डाला।

कैंप के प्रथम दिवस में उद्घाटन सत्र के उपरांत वाह्य विशेषज्ञ के तौर पर महत्वपूर्ण स्टार्टअप का संचालन कर रहे भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान अहमदाबाद के पूर्व छात्र राहुल वत्स ने स्टार्टअप प्रारंभ करने हेतु आवश्यक व्यवस्था एवं इस संबंध में सरकार की योजनाओं के साथ-साथ स्टार्टअप प्रारंभ करने के संबंध में आवश्यक विचार पर विस्तार से चर्चा की। इसके दूसरे सत्र में वेबक्योर सनराइज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक महेश चंद्र पनेरु ने विभिन्न स्टार्टअप प्रारंभ करने हेतु शासकीय परियोजनाओं एवं उनके उपयोग पर उपस्थित प्रतिभागियों को जानकारी प्रदान की। वही सीमा बिष्ट द्वारा इस हेतु आवश्यक प्रशिक्षण प्रतिभागियों को दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  लोकसभा चुनाव को लेकर विभिन्न बैंकों के अधिकारियों की बैठक हुई

कार्यक्रम के संबंध में जानकारी देते हुए योजना के कुमाऊं विश्वविद्यालय नोडल अधिकारी प्रोफेसर कुमुद उपाध्याय ने बताया कि उत्तराखंड राज्य में माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के युवाओं को स्वावलंबी बनाने हेतु संचालित देवभूमि उद्यमिता योजना राज्य सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है। इसकी के तहत आज से प्रारंभ स्टार्टअप बूट कैंप हेतु कुल 280 विद्यार्थियों द्वारा पंजीकरण कराया गया है जिन्हें भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान अहमदाबाद के क्रियान्वयन सहयोग के साथ प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। कार्यक्रम के संयोजक डॉ तीरथ कुमार एवं डॉ आशीष बिष्ट ने बताया कि बूट कैंप में शामिल प्रतिभागियों में से चिन्हित प्रतिभागियों को आगामी 12 दिवसीय उद्यमिता विकास कार्यक्रम में शामिल किया करते हुए स्टार्टअप कार्यक्रम प्रारंभ करने का विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  जलाल गांव के लोगों ने लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया

आज के कार्यक्रम का संचालन एम बी ए प्रथम वर्ष की छात्रा श्रेया जायसवाल ने किया वही सुमित जोशी, हर्षिता रखोला, ऋतिक गोस्वामी का विशेष सहयोग रहा। कार्यक्रम में प्रबंध अध्ययन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो अमित जोशी, फार्मेसी विभाग के अरविंद जंतवाल, मनीषा पाठक, कम्युनिटी कॉलेज से राकेश तिवारी सहित डा लक्ष्मण रौतेला, विनोद कुमार, ललित उपाध्याय, कृष्ण शर्मा सहित परिसर के शिक्षक कर्मचारी एवं प्रतिभागी शामिल हुए।

Advertisement