राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद द्वारा प्रदेश सरकार से 4 प्रतिशत भत्ते की घोषणा,तथा कर्मचारियों की वेतन एवं गोल्डन कार्ड की विसंगतियां को आचार संहिता से पहले ठीक करने की मांग जनपद की ऑनलाइन बैठक में की गई

Advertisement

नैनीताल l राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद द्वारा प्रदेश सरकार से 4 प्रतिशत भत्ते की घोषणा,तथा कर्मचारियों की वेतन एवं गोल्डन कार्ड की विसंगतियां को आचार संहिता से पहले ठीक करने की मांग जनपद की ऑनलाइन बैठक में की गई।
उक्त बैठक की जानकारी देते हुए परिषद के जिलाध्यक्ष असलम अली ने कहा कि प्रदेश सरकार को केंद्र की सरकार की तरह महंगाई भत्ते महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा कर देनी चाहिए। क्योंकि यदि शीघ्र आचार संहिता लग जाती है तो राज्य के कर्मचारियों को जून से पहले लाभ मिलना मुश्किल हो जाएगा। बैठक में परिषद के जनपदीय संरक्षक बहादुर सिंह बिष्ट ने कहा कि सरकार महंगाई भत्ते का लाभ देने में देरी न करें, बैठक में परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरजेश कांडपाल ने सरकार से आगामी कैबिनेट में कर्मचारियों की वेतन विसंगतियों एवं गोल्डन कार्ड के क्रियान्वयन में हो रही कठिनाइयों को भी दूर करने मांग की । बैठक में परिषद के कोषाध्यक्ष दीपक बिष्ट तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल डी एस बी परिषद के अध्यक्ष गणेश बिष्ट ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस सरकार को महंगाई भत्ते के साथ-साथ कर्मचारियों को मिलने वाले अन्य भत्तो को भी केंद्र के समानांतर वृद्धि करनी चाहिए।
बैठक में परिषद के उपाध्यक्ष इसरार बेग, सहायक विकास अधिकारी संघ के जिला अध्यक्ष विनोद कुमार भट्ट, तनवीर असगर, आनंद सिंह जलाल, सत्य प्रकाश द्विवेदी राजेंद्र प्रसाद टम्टा, पीके शर्मा, गोपाल राम, कैलाश गिरी गोस्वामी, दिनेश चंद्र जोशी, संजय सिंह, आनन्द पाण्डे तथा भूपाल सिंह बिष्ट सहित कई ने कई कर्मचारियों ने प्रतिभाग किया।
असलम अली
( जिलाध्यक्ष )
राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद नैनीताल

Advertisement