“सफ़लता के सूत्र ” पर गोष्ठी संपन्नसंघर्ष का नाम जीवन है-प्रो. नरेंद्र आहूजा विवेक

Advertisement
Ad

नैनीताल l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में “सफ़लता के सूत्र” विषय पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया गया I य़ह करोना काल से 617 वां वेबिनार था I मुख्य वक्ता एम वी एन विश्वविद्यालय के प्रो.नरेंद्र आहूजा विवेक ने कहा कि कठिनाइयों से घबराना नहीं चाहिए और संघर्ष करते रहना चाहिए I उन्होंने कहा यदि की हम नकारात्मक सोच -दृष्टि कोण को तिलांजलि देकर ईश्वर पर पूर्ण आस्था रखते हुए कार्य करेंगे तो सफलता अवश्य प्राप्त होगी। सफलता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है यह विचार करके असफलता के डर को मन से निकाल देना चाहिए। जीवन में यदि असफलता मिलती भी है तो उसका स्वागत करें। हम लड़े तो सही प्रयास पुरुषार्थ तो किया। प्रोफेसर नरेन्द्र विवेक ने समझाते हुए बताया की संघर्ष का नाम जीवन है संघर्ष की अग्नि में तप कर हम अपने जीवन को कुंदन बनाते है। ऎसी कोई समस्या नहीं जिसका समाधान ना हों और ईश्वर हमारे सच्चे मित्र हमारे अंतरात्मा से हमें हर समस्या का समाधान बता कर सही मार्गदर्शन देते हैं। कर्म करना हमारा अधिकार है फल प्रभु के हाथ में होता है। इसलिए हम कर्म करें और फल की चिंता छोड़ दे। किया हुआ तप कभी बेकार नहीं जाता। सफलता के प्रयास छोड़ देना ही असफलता है।
मुख्य अतिथि पूर्व डी आई जी सुनील गुप्ता व अध्यक्ष रजनी गर्ग ने भी जीवन के सफ़लता के सूत्र बताए I परिषद अध्यक्ष अनिल आर्य ने कुशल संचालन किया व राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने धन्यवाद ज्ञापन किया I गायिका प्रवीना ठक्कर, रविन्द्र गुप्ता, कमलेश
चांदना,कमला हंस, अंजू आहूजा, ईश आर्य, राजश्री यादव, कौशल्या अरोड़ा, कुसुम भंडारी, सरला बजाज आदि के मधुर भजन हुए I

Advertisement

Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement