जिला प्रशासन बंद कमरे में बैठकें करने तक ही सीमित लोगों की समस्याएं जस की तस: बिष्ट

Advertisement
Ad

नैनीताल। भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष आनंद बिष्ट ने कहा कि जिला प्रशासन सिर्फ बैठक तक ही सीमित है नगर में कोई भी काम नहीं हो रहे हैं ।नगर के लोगों की कई समस्याएं जस की तस है उन्होंने कहा कि पर्यटक सीजन आते ही जिला प्रशासन सिर्फ एक बंद कमरे में बैठक कर अपने कार्य की इति श्री कर लेता है। श्री बिष्ट ने कहा कि इन दिनों नगर में अनेक स्थानों पर खुले में सीवर बह रहा है उसे देखने वाला कोई नहीं है। नगरवासी पानी के लिए तरस रहे हैं। जल संस्थान विभाग द्वारा पानी के बिलों में भारी बढ़ोतरी की जा रही है।इसी तरह नगर में आए दिन जाम की समस्या रहती है। अनेक स्थानों पर नो पार्किंग जोन में वाहन खड़े रहते हैं ।पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही ना करने से जनता परेशान है उन्होंने कहा कि विभिन्न समस्याओं के लिए अनेक बार जिला प्रशासन को ज्ञापन भी दिए जा चुके हैं, लेकिन जिला प्रशासन द्वारा आज तक कोई काम नहीं किए गए हैं । मंडल उपाध्यक्ष भूपेंद्र बिष्ट ने कहा कि नगर में बाहर से लगातार लोग आ रहे हैं। पुलिस द्वारा उनका कोई सत्यापन नहीं किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि पंत पार्क में इन दिनों बाहर से लोग आकर यहां पर लगा रहे हैं ।नगर पालिका द्वारा अवैध फलों को नहीं हटाया जा रहा है पालिका द्वारा पंत पार्क में 121 लाइसेंस दिए गए हैं लेकिन पंत पार्क में 400 से अधिक फल लग रहे हैं । उन्होंने कहा कि लगातार नगर में चोरी की घटना है लगातार बढ़ रही है। पुलिस द्वारा रात्रि में गश्त भी नहीं की जा रही है, नाही पालिका द्वारा नगर की सफाई व्यवस्था पर कोई ध्यान दिया जा रहा है ना लिया लगातार चौक होती जा रही है। नगर की स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है श्री बिष्ट ने कहा कि सड़कों में आवारा पशु घूम रहे हैं साथ ही बंदर लंगूरों का आतंकी भी बढ़ रहा है। बाहरी लोगों का आवागमन लगातार हो रहा है। उन्होंने कहा कि नगर में बड़े-बड़े बिल्डरों के मकान तो बन रहे है लेकिन आम आदमी मकान बना रहा है तो उसे प्राधिकरण द्वारा ध्वस्त किया कर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नगर के कृष्णापुर में पिछले कई समय से सड़क की दिक्कत हो रही है। आज तक जिला प्रशासन ने वहां के लिए सड़क की भी व्यवस्था नहीं की जिससे कृष्णापुर के लोग काफी परेशान है ।लगातार पानी और बिजली की कटौती से नगरवासी परेशान है। लोगों के कोई काम नहीं होने से वह अपने आप को ठगा महसूस कर रही है।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement