श्रावणी पर्व पर युवा संस्कार अभियान चलाएगा आर्य समाज केन्द्रीय आर्य युवक परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सम्पन्न युवा पीढ़ी को नशा मुक्त, पाखंड-अन्धविश्वास मुक्त बनाएंगे-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

Advertisement
Ad

नई दिल्ली l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् की राष्ट्रीय कार्यकारिणी व अन्तरंग सभा की बैठक मुख्यालय आर्य समाज कबीर बस्ती,पुरानी सब्जी मंडी
में राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य की अध्यक्षता में संपन्न हुई।बैठक का शुभारंभ यज्ञ के साथ हुआ, आचार्य महेन्द्र भाई ब्रह्मा व श्रीमती निर्मल आर्या एवं धर्मपाल आर्य,श्रीमती बबीता एवं अरुण आर्य वेद प्रकाश आर्य, बिमला आहूजा यज्ञ मान रहें। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने आह्वान किया कि समाज में बढ़ता पाखंड, अन्धविश्वास, गुरूडमवाद चिन्ता का विषय है, आर्य समाज श्रावणी पर्व पर जागरूकता अभियान चलाएगा।उन्होंने बताया की 10 अगस्त से 18 अगस्त 2024 तक “युवा संस्कार अभियान” चलाने के अंतर्गत यज्ञ,भजन प्रवचन के साथ दस हजार युवाओं को यज्ञोपवीत धारण करवा कर धर्म के सच्चे स्वरूप से अवगत कराया जायगा।मिशन 25 के अन्तर्गत 12 से 25 वर्ष तक के लगभग 10,000 युवाओं को “यज्ञोपवीत” धारण करवाया जायेगा।यज्ञ, भजन व वैदिक विद्ववानों के प्रवचन होंगे।जिससे नयी युवा पीढ़ी भारतीय संस्कृति से परिचित हो सके।आज युवा पीढ़ी पाश्चात्य संस्कृति की और अग्रसर हो रही है उन्हें अपनी गौरव शाली संस्कृति से परिचय करवाया जाए जिससे वह अपनी संस्कृति पर गर्व कर सकें।उन्हें मातृ पितृ भक्त,ईश्वर भक्त, देश भक्त बनाने के संस्कार दिए जाएंगे।उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष प्रवीण आर्य ने कहा कि यज्ञ समर्पण का दूसरा नाम है यज्ञ स्वयं जल कर प्रकाश करने का नाम है यह त्याग बलिदान की प्रेरणा देता है। समाज सेवी देवेन्द्र आर्य बंधु
ने कहा कि युवाओं को सुसंस्कारित करने के पश्चात आर्य समाज के साथ जोड़ा जाएगाI मेट्रोपोलेटिन मजिस्ट्रेट ओम सपड़ा ने धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा आर्य समाज के पास सिद्धांतों की कमी नहीं है, आवश्यकता है उसे जन जन तक पहुंचाने की। यज्ञवीर चौहान ने बताया कि गाजियाबाद में इंदिरापुरम,राजेन्द्र नगर,सन्यास आश्रम,दयानन्द नगर सहित एनसीआर में लगभग 100 विभिन्न स्थानों में कार्यक्रम होंगे।
प्रमुख रूप से संगठन मंत्री सौरभ गुप्ता,सन्दीप बत्रा सोनीपत,सुधीर कुमार बंसल,प्रेम चन्द शास्त्री, अमर सिंह सहरावत, सोनिया संजू,दुर्गेश आर्य,भोपाल सिंह, सुरेश आर्य, के.एल.राणा,संतोष शास्त्री, अभय शास्त्री,त्रिलोक शास्त्री, मास्टर विजेंद्र आर्य, रामफल खरब,राम कुमार आर्य आदि ने भी अपने विचार रखे। राष्ट्रीय मंत्री देवेन्द्र भगत ने बताया कि परिषद के 46 वें स्थापना दिवस पर रविवार 1 सितम्बर को आर्य समाज मालवीय नगर नई दिल्ली में “राष्ट्रीय आर्य बुद्धिजीवी सम्मेलन” आयोजित करने का निश्चय हुआ है। शांतिपाठ एवं ऋषि लंगर के साथ बैठक सम्पन्न हुई।

Advertisement

Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement