बेहतर शैक्षणिक वातावरण एवं अवसंरचना के विकास हेतु कुलपति का किया आभार ज्ञापन छात्र हमारे परिसरों एवं संस्थानों में सबसे महत्वपूर्ण हितधारक – कुलपति प्रो० दीवान एस रावत

Advertisement

नैनीताल । कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में वाणिज्य विभाग के प्राध्यापकों एवं शोधार्थियों ने कुलपति प्रो० दीवान एस रावत से मिलकर उनके द्वारा विश्वविद्यालय में बेहतर शैक्षणिक वातावरण एवं अवसंरचना के विकास, विद्यार्थियों के हित में किये जा रहे नवाचारी प्रयासों तथा विभाग को प्रदान किये जा रहे स्नेह, सहयोग व समर्थन के लिए आभार ज्ञापित किया। विभागाध्यक्ष प्रो० अतुल जोशी की अगुआई में प्राध्यापकों एवं शोधार्थियों ने कुलपति से मुलाकात कर वाणिज्य विभाग द्वारा माइक्रोफाइनांस के माध्यम से ग्रामीण महिलाओं का सशक्तिकरण विषय पर आयोजित किये गए राष्ट्रीय सेमिनार की रिपोर्ट भी प्रस्तुत की। इस अवसर पर कुलपति प्रो० दीवान एस० रावत ने वाणिज्य विभाग द्वारा आयोजित किये गए राष्ट्रीय सेमिनार में प्रस्तुत शोध पत्रों के संकलन की पुस्तक का विमोचन भी किया गया। कुलपति प्रो० रावत ने विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि सकारात्मकता ही सफलता का पर्याय है। जीवन में हमेशा सकारात्मक बने रहें। असहयोगियों के लिए मन में स्नेह और सम्मान रहे और सभी को सहयोग प्रदान करने की कोशिश हो, तो जीवन खुद ही सफल और सार्थक हो जाएगा। उन्होंने कहा कि काम न करने से हमारी ऊर्जा का क्षय होता है। अतः आप सभी हमेशा अधिक काम करते रहें, तभी उर्जावान बने रहेंगे। आभार ज्ञापन के दौरान विभागाध्यक्ष प्रो० अतुल जोशी ने कौशल विकास आधारित पाठ्यक्रमों के सुगम सञ्चालन हेतु एक अतिरिक्त कंप्यूटर लैब वाणिज्य विभाग को प्रदान करने हेतु कुलपति प्रो० रावत से निवेदन किया ताकि जीएसटी, इनकम टैक्स, ई-कॉमर्स एवं टैली पर आधारित पाठ्यक्रमों का सञ्चालन सुगमता से किया जा सके। जिस पर सहमति प्रदान करते हुए कुलपति प्रो० रावत ने कहा कि छात्र हमारे परिसरों एवं संस्थानों में सबसे महत्वपूर्ण हितधारक हैं इसलिए उनका प्रयास होगा कि विश्वविद्यालय मे ऐसा अकादमिक उत्कृष्टता का वातावरण बने जिसमें विद्यार्थी उत्कृष्ट पेशेवर बनकर देश व समाज के विकास में सकारात्मक भूमिका निभा सकें। इस अवसर पर कुलसचिव श्री दिनेश चंद्रा, वित्त नियंत्रक श्रीमती अनीता आर्या, निदेशक शोध एवं प्रसार प्रो० एन० के० साहू, डॉ० आरती पंत, डॉ० ममता जोशी, डॉ० निधि वर्मा, डॉ० जीवन उपाध्याय, डॉ० विनोद जोशी, डॉ० पूजा जोशी, डॉ० हिमानी जलाल, डॉ० गौतम रावत, श्रीमती अंकिता आर्या, कु० रीतिशा शर्मा एवं कु० आस्था अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  श्री श्री 1008 अवधूत बाबा रंगनाथ महाराज की पुण्यतिथि के उपलक्ष में मां चंडीधार देवी मंदिर गागर क्षेत्र में श्री विष्णु पुराण कथा का आयोजन शुरू
Advertisement