कुलपति प्रो० दीवान एस रावत ने फार वेस्टर्न विश्वविद्यालय, नेपाल में पूर्व छात्रों के साथ मुलाकात कर शुरू किया केयू एलुमनी नेपाल चैप्टर

Advertisement

नैनीताल l कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० दीवान एस रावत ने नेपाल के फार वेस्टर्न विश्वविद्यालय में कुमाऊं विश्वविद्यालय के अलुमनाई (अपने पूर्व छात्रों) के साथ मुलाकात कर केयू एलुमनी नेपाल चैप्टर की शुरुआत की गई। इस समागम ने अलुमनाई को अपने आल्मा मैटर से फिर से जुड़ने और कुमाऊं विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त करने के बाद उनके अनुभवों को साझा करने का मौका दिया।

कुलपति प्रो० दीवान एस रावत से मुलाकात के दौरान, अलुमनाई ने जहाँ अपनी सफलता की कहानियां साझा की वहीं उन्होंने कुमाऊं विश्वविद्यालय की भूमिका को उनके करियर और जीवन को आकार देने में महत्वपूर्ण रूप से स्वीकार किया। उन्होंने भी चर्चा की कि वे अपने आल्मा मैटर के विकास में कैसे योगदान कर सकते हैं। कुलपति प्रो० दीवान एस रावत ने अपने अलुमनाई की उपलब्धियों पर हर्ष व्यक्त करते हुए बताया कि यह समागम, कुमाऊं विश्वविद्यालय और उसके अलुमनाई के बीच मजबूत बंधन का प्रदर्शन करते हुए, सफल रहा। उन्होंने कहा कि यह समागम, उनके अलुमनाई के जीवन पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रभाव की एक याद दिलाता है और उसके छात्रों और समुदाय के लिए एक उज्जवल भविष्य बनाने के लिए कुमाऊं विश्वविद्यालय के निरंतर प्रयासों को दर्शाता है। उन्होंने बताया कि केयू एलुमनी नेपाल चैप्टर, वर्तमान छात्रों के लिए एक मंच भी प्रदान करेगा, ताकि वे सफल अलुमनी के साथ अपने अनुभवों को साझा कर सकें और उनसे अपने करियर के बारे में अनमोल जानकारी प्राप्त कर सकें। ज्ञात हो कि कुलपति प्रो० दीवान एस रावत को फार वेस्टर्न विश्वविद्यालय, नेपाल के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है जिसकी अध्यक्षता नेपाल के प्रधानमंत्री श्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ करेंगे। दीक्षांत समारोह की पूर्व संध्या पर कुलपति प्रो० दीवान एस रावत ने कुमाऊं विश्वविद्यालय के अलुमनाई (अपने पूर्व छात्रों) के साथ मुलाकात कर केयू एलुमनी नेपाल चैप्टर की शुरुआत की गई है। इस अवसर पर फार वेस्टर्न विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो० कर्ण बहादुर थापा के साथ कुमाऊं विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र प्रो० मुकुंद बल्लभ कालौनी, प्रो० भवानी चंद ठकुरी, प्रो० हेम नाथ जोशी, प्रो० मन देव भट्ट, प्रो० यज्ञ राज भट्ट, प्रो० नारद अवस्थी, डॉ० हरीश चंद्र भट्ट, डॉ० मदन सिंह देउपा, डॉ० टेक राज पंत, डॉ० भूपेंद्र सिंह बिष्ट, श्री कृष्णा दत्त जोशी, श्री अशोक सिंह भंडारी, श्रीमती निशा भट्ट आदि उपस्थित रहे।

Advertisement