दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन मानव संसाधन विकास केन्द्र एच0आर0डी0सी0 कु0वि0वि0 में 8 व 9 अक्टूबर को आयोजित किया जायेगा

Advertisement


नैनीताल । प्रदेश के महामहिम राज्यपाल ले0ज0 गुयमीत सिंह की प्रेरणा से वाणिज्य विभाग कुमाऊॅं विश्वविद्यालय, नैनीताल के तत्वाधान में भारतीय हिमालय क्षेत्र में सतत् विकास एवं गृह-प्रवास पर्यटन विषय: संभावनाऐं एवं चुनौतियॉं विषय पर 8 एवं 9 अक्टफबर 2023 को दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन मानव संसाधन विकास केन्द्र (एच0आर0डी0सी0) कु0वि0वि0 में आयोजित किया जायेगा। यहॉं जारी प्रेस विज्ञप्ति में संगोष्ठि के संयोजक एवं संकायाध्यक्ष एवं विभागाध्यक्ष वाणिज्य प्रो0 अतुल जोशी ने बताया कि केन्द्रीय पर्यटन एवं रक्षा राज्य मंत्री तथा स्थानीय सांसद श्री अजय भट्ट संगोष्ठि के मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 दीवान सिंह रावत द्वारा की जाएगी। संगोष्ठी में मुख्य वक्ता हिमगिरी जी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति तथा सेन्टर फॉर माउन्टेन एंड हॉस्पिटलिटी स्टडी, चौरास, हे0न0ब0 गढ़वाल के आचार्य प्रो0 एस0सी0 बागड़ी होगो। प्रो0 जोशी ने बताया कि आज, जिस प्रकार दुनिया भर के लोगों में पर्यटन के परम्परागत गंतब्यों के स्थान पर भारतीय हिमालय क्षेत्र के पर्यटकीय उत्पादों यथा संास्कृतिक विरासत, खान-पान, परिधान, त्योहार-परम्परागत कृषि, बागवानी, दस्तकारी, त्योहार, स्थनीय लोक एवं संगीत को जानने और समझने की लालसा विकसित हो रही है तथा पर्यटकों का रूझान शहरों के बजाय गॉंवों की ओर बढ़ रहा है, उसमें गृह-प्रवास पर्यटन का नया आयाम उन्हें कम लागत में गुणवत्ता पूर्ण आतिथ्य प्रदान कराने में अत्यंत लोकप्रिय माध्यम बनता जा रहा है।
प्रो0 जोशी ने बताया कि संगोष्ठि के उदघाटन सत्र का मुख्य आकर्षण कुमाऊॅं एवं गढ़वाल विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में उत्तराखंड में स्वामी विवेकानंद परिपथ पर निर्मित डॉक्यूमैंट्री का प्रदर्शन तथा संगोष्ठि के विषय पर 45 विद्वानों, प्राध्यापकों एवं शोध पत्रों द्वारा प्रस्तुत शोध पत्रों एवं आलेखों से युक्त संपादित पुस्तक का विमोचन होगा। संगोष्ठि में देश के विभिन्न क्षेत्रों के विद्वान, शिक्षक, शोध-छात्रों सहित गृहप्रवास पर्यटन का संचालन करने वाले विभिन्न प्रस्तोताओं की भागीदारी गृह प्रवास पर्यटन की संभावनाओं एवं चुनौतियों के व्यावहारिक पक्ष को सुदृढ करेगी।

Advertisement