नैनीताल के प्रतिष्ठित विद्यालय बिड़ला विद्या मंदिर में सीबीएसई के तत्वाधान में दो दिवसीय कैपेसिटी बिल्डिंग अथवा क्षमता संवर्धन कार्यशाला बुधवार से शुरू हो गई हबुधवार से शुरू हो गई है

Advertisement

नैनीताल l नगर के प्रतिष्ठित विद्यालय बिड़ला विद्या मंदिर में को सीबीएसई के तत्वाधान में एक दो दिवसीय कैपेसिटी बिल्डिंग अथवा क्षमता संवर्धन कार्यशाला बुधवार से शुरू हो गई है l इस कार्यशाला का विषय इंक्लूसिव एजुकेशन अथवा समावेशी शिक्षा है। इसका उद्देश्य विभिन्न विद्यालयों से कार्यशाला में प्रतिभाग करने हुए शिक्षकों की क्षमता का विकास करना है जिससे की वह अपने अपने विद्यालयों में अध्ययनरत विशेष आवश्यकताओं वाले छात्रों को शिक्षण और शिक्षणेत्तर कार्यकलापों मेंअन्य सामान्य छात्रों के साथ ही भाग लेने के लिए प्रेरित करने और उसके लिए उन्हें मानसिक तौर पर तैयार करने पर सफल हो सकें। कार्यशाला में विभिन्न रोचक और शिक्षाप्रद गतिविधियों के माध्यम से उपस्थित प्रतिभागियों को सफलतापूर्वक इस बात के लिए तैयार किया जा रहा है कि वह अपने विशेष आवश्यकताओं वाले छात्रों के हित के लिए कक्षाओं में उचित वातावरण विकसित कर सकें जिससे कि कक्षा में समावेशी शिक्षा प्रदान की जा सके। कार्यशाला में नैनीताल और समीपवर्ती स्थानों के कई विद्यालयों के करीब 50 शिक्षक प्रतिभाग कर रहे हैं। कार्यशाला में प्रतिभागियों को देहरादून से आई हुईं शिक्षाविद गीता शुक्ला एवम गुरु नानक पब्लिक स्कूल रामनगर के प्रधानाचार्य हिमांशु जोशी प्रशिक्षण दे रहे हैं। कार्यशाला में बिड़ला विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनिल कुमार शर्मा पूरे समय उपस्थित रह रहे हैं। कार्यशाला में धीरज भट्ट तकनीकी सहयोग प्रदान कर रहे हैं और इसका संचालन दीपक पांडे कर रहे हैं।

Advertisement