परिवहन मज़दूर संघ ने कुमाऊं आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

Advertisement
Ad

नैनीताल। वर्तमान में चल रहे बस स्टैंड को नक़्शे के विपरीत बनाने और नए बस अड्डे को परिवहन विभाग को न दिए जाने पर उत्तरांचल मज़दूर संघ ने कुमाऊँ आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर बताया कि पुराने बस स्टेशन का सौन्दर्यकरण किया जा चुका है और बस स्टेशन का सौन्दर्यकरण कराये जाने के बाद भी निगम को हस्तगत नही करवाया गया है तथा नये बसे अड्डे में बहुत सी कमियाँ पायी गई हैं।
नैनीताल बस स्टेशन के सौन्दर्यकरण किये जाने के बाद देखा गया है कि जो बस स्टेशन वर्तमान में बनाया गया है वह पूर्व में निगम को दिये गये नक्शे के विपरीत है। इस बस स्टेशन में जहां चार गाड़ी खड़े होने की जगह थी वहां पर फव्वारा लगा दिया गया है और वहां पर गाड़ी खड़ी होने एंव यात्रियों के लिए शेड़ नहीं बनाया गया है और ना ही वाहन खड़े होने की जगह के उपर कोई भी छत नहीं बनायी गयी है। ठेकेदार से पूछने पर उन्होंने कहा कि सौन्दर्यकरण के मद में दी गयी धनराशि खत्म हो चुकी है जब अगली बैठक होगी तो उसमें धनराशि स्वीकृत हो जाने के उपरान्त आगे कार्य किया जायेगा।जबकि वह बस अड्डा पूर्व में दिये गये नक्शे के विपरीत बनाया गया है जो संगठन को मान्य नहीं है।
कहा कि दूसरा बस स्टेशन तैयार हो जाने के बाद भी अभी तक नए बस स्टेशन परिवहन निगम को नहीं दिया गया है। जबकि बस स्टेशन के पास बने गैराज वाले कमरो के लिए प्राधिकरण की ओर से अन्य विभागो को दिये जाने हेतु निगम से रिपोर्ट मांगी जा रही है। नया बस स्टेशन वर्तमान में बनकर तैयार हो चुका है उसे निगम को दिया जाएगा या नहीं इसकी भी जानकारी नहीं है।भारतीय परिवहन मज़दूर महासंघ की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लीला बोरा ने नये बस अड्डे की माँग को लेकर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है। जिसकी मंगलवार को सुनवाई की जाएगी।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement