जो लोग रक्तदान करने में सक्षम हैं और स्वस्थ हैं उन्हें रक्तदान अवश्य करना चाहिए – कुलपति प्रो० दीवान एस रावत डीएसबी परिसर, नैनीताल में हुआ रक्तदान शिविर का आयोजन

Advertisement

नैनीताल l राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ, कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल तथा रासेयो इकाई, डीएसबी परिसर नैनीताल द्वारा स्वर्गीय डॉ० आर०एस० रावल, स्वर्गीय डॉ० सुचेतन साह तथा समाज सेवी स्वर्गीय श्री कुंदन नेगी की स्मृति में डीएसबी परिसर नैनीताल के जी०बी० पंत पुस्तकालय में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। रक्तदान शिविर का शुभारम्भ कुलपति प्रो० दीवान एस रावत द्वारा किया गया। रक्तदान शिविर का शुभारम्भ करते हुए कुलपति प्रो० दीवान एस रावत ने कहा कि किसी के जीवन को बचाने के लिये रक्तदान करना सबसे महत्वपूर्ण दान है। इसलिए जो लोग रक्तदान करने में सक्षम हैं और स्वस्थ हैं उन्हें रक्तदान अवश्य करना चाहिए। उन्होंने डीएसबी परिसर नैनीताल की रासेयो इकाई की इस पहल की प्रशंसा करते हुए कहा कि रक्तदान शिविरों के माध्यम से हम प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से जिन्दगियों को बचाने का काम करते हैं। रक्तदान के फायदे और मानवता के लिये इसकी आवश्यकता के विषय में अधिक से अधिक लोग जागरूक हों इसके लिए समय-समय पर रक्तदान शिविरों का आयोजन होना ही चाहिए। इस अवसर पर संकायाध्यक्ष वाणिज्य प्रो० अतुल जोशी ने बताया कि नियमित अंतराल यानी तीन महीने बाद रक्तदान करते रहने से हमारे शरीर में आयरन की मात्रा संतुलित रहती है और रक्तदाता को हृदयाघात की संभावना नहीं रहती। नियमित रक्तदान करने से कैंसर सहित अन्य बीमारियाें का खतरा भी कम हो जाता है। रक्तदान करने से हमारे शरीर का वजन, ब्लड प्रेशर, हीमोग्लोबिन, मलेरिया,एचबीएसएजी, एचसीवी, वीडीआरएल जांचें भी हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा किए गए रक्तदान से कई लोगों की जिंदगी बचती है। रक्तदान करने के महत्व का अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई निकटतम व्यक्ति रक्त की कमी से जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा हाेता है।इससे पूर्व कार्यक्रम के अंत में कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल के राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ के समन्वयक डॉ० विजय कुमार द्वारा सभी अतिथियों का स्वागत एवम अभिनंदन किया गया। कार्यकम का संचालन प्रो० ललित तिवारी द्वारा किया गया। रक्तदान शिविर के आयोजन में में निदेशक डीएसबी परिसर प्रो० नीता बोरा शर्मा, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो० संजय पंत, मुख्य कुलानुशासक प्रो० एच०सी०एस० बिष्ट, डॉ० दीपक कुमार, डॉ० ललित मोहन, डॉ० अंकिता आर्या, रितिशा शर्मा, सुबिया नाज द्वारा महत्वपूर्ण योगदान दिया गया। इस अवसर पर उपस्थित प्राध्यापकों प्रो० नीलू लोधियल, प्रो० सुषमा टम्टा, प्रो० अनिल बिष्ट, प्रो० चंद्रकला रावत, डॉ० कुबेर गिनती, डॉ० प्रदीप कुमार, डॉ० बिजेंद्र, डॉ० ममता जोशी, डॉ० पूजा जोशी द्वारा विद्यार्थियों को रक्तदान हेतु प्रोत्साहित किया गया। शिविर में इन लोगों ने किया रक्तदान- शिविर में डॉ० मोहित रौतेला, डॉ० महेश आर्या, डॉ० सरोज पालीवाल, सौरभ उप्रेती, गरिमा, करन, अपूर्वा, अंसुल कठायत, खुशी मेहरा, हिमांशु मेहरा, जय किशन, चारु जोशी, मान्यता मेहरा, मनप्रीत कौर, पार्थ, सुमीत भंडारी, आयुष सिंह, मानसी नेगी, कृष उपाध्याय, अनस हुसैन, आदित्य सिंह, मानस नेगी, मोहम्मद अदनान, नेहा जंतवाल, आस्था सिंह, मनीषा चंद, दीक्षा चंद, संजना भगत, मनीषा नेगी, दीक्षित जोशी, नकुल अग्नि, करन ललित, दीप्ति, उन्नति बिष्ट, तुषार, तापसी गोयल, भूपेंद्र प्रसाद, नितिन कांडपाल ने रक्तदान किया। शिविर में कुल 38 यूनिट रक्तदान किया गया।

Advertisement