डीएसबी परिसर, कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल में एनसीसी कैडेटों के सम्मान में रेड हैकल दिवस समारोह आयोजित किया गया।

Advertisement

नैनीताल l कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर में आज एनसीसी रेड हैकल डे आयोजित किया गया l इस कार्यक्रम में विभिन्न राष्ट्रीय शिविरों विदेश यात्राओ, साहसिक कैम्प, अकैडमी अटैचमेंट और अन्य गतिविधियों में उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में कैडेटों और विश्वविद्यालय के शिक्षक, कैडेट्स वि विद्यार्थी सम्मिलित थे। कैडेट्स ने इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।मुख्य अतिथि, कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन चंद्र विजय नेगी ने कैडेट्स को उत्कृष्टता की खोज जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि आज इस उल्लेखनीय अवसर, रेड हैकल डे, पर यहां उपस्थित होना सम्मान की बात है। मैं कुमाऊं विश्वविद्यालय के एनसीसी कैडेटों द्वारा प्रदर्शित समर्पण और प्रतिबद्धता को देखकर बेहद गर्व के साथ आपके सामने खड़ा हूं। विभिन्न शिविरों और गतिविधियों में आपकी उपलब्धियाँ आपकी अटूट भावना और कड़ी मेहनत का प्रमाण हैं।
एनसीसी सिर्फ एक संगठन नहीं है; यह चरित्र, नेतृत्व और सेवा का संस्थान है। आपने यहां जो कौशल और मूल्य सीखे हैं, वे न केवल आपके सैन्य करियर में बल्कि इन परिसर की दीवारों से परे जीवन में भी आपकी अच्छी सेवा करेंगे। आपमें से प्रत्येक में मौजूद क्षमता और दृढ़ संकल्प को देखना सौभाग्य की बात है। मैं आप सभी को उत्कृष्टता के लिए प्रयास जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करता हूं, क्योंकि आपके समर्पण से ही हमारा राष्ट्र मजबूत बनता है। सेवा की भावना को जीवित रखें और अपने संस्थान, अपने परिवार और अपने राष्ट्र को गौरवान्वित करते रहें। आपकी यात्रा अभी शुरू हुई है, और मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि आप और भी अधिक ऊंचाइयों को छूएंगे। परिसर निदेशक प्रो. नीता बोरा शर्मा ने सभा को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय को गौरवान्वित करने के लिए कैडेटों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा इस रेड हैकल दिवस पर, मैं गर्व से भर गयी हूं क्योंकि मैं असाधारण युवाओं की इस सभा के सामने खड़ी हूं, जिन्होंने न केवल शैक्षणिक रूप से उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है, बल्कि एनसीसी में अपनी भागीदारी के माध्यम से सेवा और अनुशासन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता भी प्रदर्शित की है।मैं उन सभी एनसीसी कैडेटों को हार्दिक बधाई देती हूं जिन्हें आज सम्मानित किया गया है। आपकी उपलब्धियों ने हमारे विश्वविद्यालय का नाम रोशन किया है और हमें आपके समर्पण और कड़ी मेहनत पर बेहद गर्व है।
एनसीसी केवल कौशल प्राप्त करने के बारे में नहीं है; यह नेतृत्व, टीम वर्क और राष्ट्र की सेवा के मूल्यों को आत्मसात करने के बारे में है। जैसे-जैसे आप आगे बढ़ें, याद रखें कि आप जो भी रास्ता चुनेंगे उसमें ये मूल्य आपके मार्गदर्शक बनेंगे।
मैं हमारे परिसर को सम्मान दिलाने के लिए एनसीसी कैडेटों के प्रति अपना आभार व्यक्त करना चाहती हूं। आपका समर्पण हम सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत है, और मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि आप अपने भविष्य के प्रयासों में चमकते रहेंगे।
एनसीसी नेवी और आर्मी विंग कैडेटों को उनके उल्लेखनीय योगदान और उपलब्धियों के सम्मान में कुल 150 प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। मेजर एचसीएस बिष्ट ने अपने उद्घाटन भाषण से उपस्थित लोगों का स्वागत किया, जबकि लेफ्टिनेंट डॉ. रीतेश साह ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। कार्यक्रम का संचालन प्रोफेसर ललित तिवारी द्वारा किया गया। इस अवसर पर अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो संजय पंत, अधिष्ठाता कला प्रो इन्दु पाठक, परीक्षा नियंत्रक डॉ महेंद्र राणा, डॉ हिमांशु लोहानी, डॉ दिव्या , डॉ सन्तोष, डॉ संदीप मंडोली, सूबेदार मेजर पकेश चंद्र चौहान , हवलदार अजय कुमार, डॉ दीपक मेलकनी, छात्र संघ अध्यक्ष सुभम् बिष्ट सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे ।

Advertisement