आशा फाउंडेशन द्वारा चलाई जा रही पिंक मुहिम रंग ला रही ला रही है

Advertisement

नैनीताल l आशा फाउंडेशन द्वारा चलाई जा रही पिंक मुहिम जो की महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर चली आ रही है। जो खासकर ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं व बेटियों को जागरूक करने की दिशा में और उन्हें स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की दिशा में जो कार्य चल रहा है ।उसके अंतर्गत आज आशा फाउंडेशन द्वारा छोटा कैलाश के पास पिनरू ग्राम सभा में आसपास के गांव की महिलाओं और बालिकाओं को जागरूक करने का कार्य किया गया। इसमें महिलाओं को एकत्रित करने का प्रयास वहां की सीनियर समाज सेविका और बैंक सखीभागीरथी पलड़िया का रहा।अध्यक्ष आशा शर्मा का कहना है की आज के परिवेश में स्तन कैंसर और बच्चेदानी के कैंसर के केस बहुत बढ़ रहे हैं ।और गांव में जागरूकता के अभाव से उन्हें इस बीमारी की गिरफ्त में कब आ जाती हैं उन्हें पता ही नहीं होता। अपनी इस मुहिम के तहत वह गांव गांव में महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ स्तन कैंसर में स्वयं परीक्षण कैसे किया जाए उसका विस्तार से जानकारी देती हैं। क्योंकि आज भी हमारे समाज में कुछ विषयों पर आज भी बात करना वर्जित माना जाता है। इसीलिए अध्यक्ष आशा शर्मा ने यह मुहिम चलाई और ग्रामीण क्षेत्र में दूर दराज के गांव में जाकर उनको जागरूक करती हैं। बच्चेदानी के कैंसर से बचाव के लिए साफ सफाई की जानकारी के साथ-साथ उनको कपड़े से बने reusable पैड्स उपलब्ध करवाती हैं। जो की पूर्णतया उनकी तरफ से फ्री वितरित की जाती हैं। इन पैड्स की लाइफ लगभग दो से ढाई साल तक होती है और आसानी से इस्तेमाल की जा सकती हैं। उनका कहना है की इन पैड्स के इस्तेमाल से वह बाजार की पैड्स से होने वाले पर्यावरण के प्रदूषण को बचाने के साथ-साथ महिलाओं की आर्थिक मदद भी करती हैं ।जिसे प्रकार महिलाएं बहुत खुश है और महिलाओं का कहना है की आज तक इस विषय पर कभी किसी ने इतना खुलकर बात नहीं किया है और ऐसी सामग्री के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं जिससे वह अपना ध्यान रख सके आज पिनरू ग्राम सभा मैं लगभग 70 महिलाओं को संबोधित करते हुए सात संबंधी जानकारी देने के साथ-साथ उनका री यूएसएबल पेट्स वितरित किए गए वही अपनी पिक मुहिम के तहत बुजुर्ग महिलाओं को पिंक शॉल पहनकर सम्मानित भी किया आज आशा फाउंडेशन की टीम में उनके साथ बच्चों सिंह नेगी ,सोनिया भारद्वाज लीला राज, गौरव आदि मौजूद थे। वहीं गांव में ग्राम सभा की तरफ से छोटा कैलाश मंदिर कमेटी के अध्यक्ष श्री उमेश पलाडिया और कई सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे वही अध्यक्ष आशा शर्मा का कहना है कि अब तक उन्होंने उत्तराखंड के कुमाऊं और गढ़वाल क्षेत्र के लगभग 29 गांव और सरकारी स्कूलों की बच्चियों को मिलाकर लगभग 4000 महिलाओं में बालिकाओं को यह पैड्स वितरित कर चुकी हैं। आशा फाउंडेशन द्वारा लगातार इस बैंक का रूप से फैलती हुई महामारी से लड़ने के लिए समाज से आवाहन किया जाता रहा है कि वह इस मुहिम से जुड़े और अपने-अपने स्तर पर लोगों को जागरूक करने का कार्य करें ताकि हम समाज में व्याप्त इस बीमारी से लड़ने के लिए मजबूत हो सके।

Advertisement