माता पिता का साथ नहीं फिर भी दौड़ने के जुनून ने कृष्णा को बनाया गोल्डन बॉय

Advertisement

नैनीताल l घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी में पिछले 7 साल से रहने वाले 14 वर्षीय कृष्णा कुमार के पिता नहीं हैं और माता मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं हैं। संस्था ने 7 साल पहले उनकी शिक्षा और बेहतर भविष्य के लिए उन्हें एडॉप्ट किया। शिक्षा और खेल दोनों में कृष्णा अच्छे हैं । आज स्कूल गेम्स के दौरान उन्होंने पहले ब्लॉक लेवल और फिर डिस्ट्रिक्ट लेवल 200 मीटर , 400 और 600 मीटर दौड़ में अपना लोहा मनवाते हुए 3 गोल्ड और 2 सिल्वर मेडल प्राप्त कर स्टेट लेवल के लिए क्वालीफाई किया है। कृष्णा 8 साल की उम्र से दौड़ने को लेकर उत्साहित हैं और रोजाना वह 25 से 30 किलोमीटर तक की दौड़ कर खुद को तैयार कर रहे हैं। समाज के प्रति जागरूक और सामाजिक परेशानियों को महसूस करने वाले कृष्णा कुमार का सपना भी समाज की परेशानियों को दूर करने में अपना योगदान देना है। कृष्णा यूनिटी और ह्यूमैनिटी को लेकर पूरे देश को जोड़ना चाहते हैं और जल्द ही वह इसके लिए दौड़ कर लोगों को जागरूक भी करेंगे। दयासागर विद्यालय में 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले कृष्णा अपनी शिक्षा को लेकर भी मेहनती हैं और उनका मानना है की शिक्षा से जोड़ कर ही जीवन को आगे बढ़ाया जा सकता है।

Advertisement