महर्षि दयानंद 200 वी जयंती महोत्सव सम्पन्न महर्षि दयानंद के आदर्शों पर चलने की आवश्यकता – डॉ. अशोक कुमार चौहान (संस्थापक अध्यक्ष, एमिटी शिक्षण संस्थान) अब जातिवाद समाप्त होना चाहिए -सांसद मनोज तिवारी

Advertisement


नैनीताल l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के 46 वे स्थापना दिवस पर “महर्षि दयानंद सरस्वती 200 वी जयंती महोत्सव” का भव्य आयोजन आर्य समाज डिफेन्स कालोनी नई दिल्ली में किया गया। समारोह में देश के विभिन्न प्रान्तों से लगभग 800 आर्य प्रतिनिधि सम्मिलित हुए और महर्षि दयानंद के आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया। कार्यक्रम का शुभारम्भ यज्ञ ब्रह्मा आचार्य विमलेश बंसल ने यज्ञ के साथ किया राष्ट्र कल्याण के लिए आहुतियां चड़वायी। आर्य नेता ठाकुर विक्रम सिंह जी ने ओम ध्वज फहराया और हिन्दू समाज को एक जुट होने का आह्वान किया।

मुख्य अतिथि सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि महर्षि दयानंद एक समता मूलक समाज चाहते थे, हमारी जाति केवल मनुष्य है हमें विश्व कुटुमकम्ब के बारे में सोचना चाहिए की पूरा विश्व मेरा परिवार है। जाति आधारित जनगणना समाज व राष्ट्र हित में उचित नहीं है यह विकास और एकता के लिए बाधक है। हम सब भारतीय है हमे समाज को बांटने नही अपितु जोड़ने का कार्य करना है।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस ने ग्रामीण क्षेत्र में गश्त कर अराजक तत्वों के खिलाफ की कार्रवाई

समारोह अध्यक्ष शिक्षाविद डॉ. अशोक कुमार चौहान (संस्थापक अध्यक्ष,एमिटी शिक्षण संस्थान) ने कहा कि महर्षि दयानंद सरस्वती जी के सिद्धान्त आज भी प्रासंगिक है और उसमें चलने की आवश्यकता है। स्वामी दयानन्द के आदर्शो को अपनाने से ही विश्व में शान्ति स्थापित हो सकती है। आर्य जनों को विश्व को बदलने का कार्य करना है।
समारोह संयोजक राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि चरित्र वान युवा पीढ़ी का निर्माण समय की आवश्यकता है जिसे परिषद गत 45 वर्षों से कर रही है। संस्कारित युवाओं का चरित्र निर्माण अभियान तीर्व गति से चलाया जाएगा।
राष्ट्रीय कवि प्रो. सारस्वत मोहन मनीषी ने ओजस्वी वाणी से समा बांध दिया। वैदिक विद्वान आचार्य विद्या प्रसाद मिश्र, आचार्य गवेंद्र शास्त्री, आचार्य वीरेन्द्र विक्रम,प्रो.नरेन्द्र आहुजा विवेक (चंडीगढ़), स्वामी विश्वानन्द जी, आचार्य कृष्ण प्रसाद कौटिल्य (झारखण्ड) आदि ने संबोधित करते हुए नव जागरण का आह्वान किया। पिंकी आर्या, प्रवीण आर्य (गाजियाबाद), शिशुपाल आर्य, दया आर्या, रजनी गर्ग आदि ने मधुर भजन प्रस्तुत किए। आर्य नेता आनन्द चौहान, अजय चौहान ने आए हुए अतिथियों का अभिनंदन किया ओर शुभकामनायें प्रदान की।
आचार्य महेन्द्र भाई, देवेन्द्र भगत, धर्मपाल आर्य, रामकुमार आर्य, अरूण आर्य, सौरभ गुप्ता, आनन्द प्रकाश आर्य हापुड़, मकेंद्र कुमार फ़रीदाबाद, सुरेश आर्य, श्री कृष्ण दहिया जींद, अशोक जांगड़ रोहतक, राजेश मेंहदीरता, अमर सिंह सहरावत, नसीब सिंह महेन्द्र गढ़, सोनिया संजू, राधा भारद्वाज, आर पी सूरी, सौरभ आर्य यमुना नगर, हरहर आर्य रांची आदि उपस्थित थे। आर्य युवकों ने योगासन दिखाए। अत्यन्त उत्साह के वातावरण में सभी वापिस लोटे।

यह भी पढ़ें 👉  युवा वैज्ञानिक पुरस्कार से सम्मानित हुई कुमाऊँ विश्वविद्यालय की छात्रा दीक्षा भट्ट

Advertisement