संयुक्त कर्मचारी महासंघ कुमाऊँ मंडल विकास निगम ने कुमाऊं के प्रवेश द्वार काठगोदाम में स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम के पर्यटक आवास गृह को अतिक्रमण के नाम पर तोड़ने का पुरजोर विरोध किया है ।

Advertisement
Ad

काठगोदाम l संयुक्त कर्मचारी महासंघ कुमाऊँ मंडल विकास निगम ने कुमाऊं के प्रवेश द्वार काठगोदाम में स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम के पर्यटक आवास गृह को अतिक्रमण के नाम पर तोड़ने का पुरजोर विरोध किया है। महासंघ के अध्यक्ष दिनेश गुरु रानी ने कहा कि प्रशासन द्वारा कुमाऊं के द्वार के नाम से प्रसिद्ध पर्यटक आवास गृह काठगोदाम को प्रशासन द्वारा निर्धारित मानकों से भी ज्यादा हिस्सा अतिक्रमण के दायरे में मानते हुए उसको तोड़ने की कोशिश की जा रही है‌। उन्होंने कहा कि प्रशासन की सरकारी पर्यटक आवास गृह जिसमें लाखों रुपए की धनराशि बनाने में लगी है ।उसे तोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहां की सरकार को चाहिए कि वह सड़क के बीच वाले हिस्से से दोनों तरफ जो मानक तय हैं उन मानकों के मुताबिक ही कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि पर्यटक आवास गृह काठगोदाम से ही पर्यटक कुमाऊं के विभिन्न हिस्सों में जाते हैं। और पवित्र कैलाश मानसरोवर यात्रा व आदि कैलाश यात्रा का भी संचालन पर्यटक आवास गृह काठगोदाम से ही होता है। बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए ही सरकारी आवास गृह को तोड़ा जा रहा है ।उन्होंने इस संबंध में माननीय मुख्यमंत्री जी को पत्र दिया है। साथ ही साथ माननीय पर्यटन मंत्री जी को ज्ञापन देते हुए महासंघ ने अपनी भावनाओं से अवगत कराया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन को अविलंब संज्ञान लेना चाहिए की मानक से ज्यादा कैसे तोड़ा जा सकता है। उन्होंने जिला प्रशासन से कहा है कि वे मानकों के तहत पर्यटक आवास गृह को बचाते हुए आवास गृह के पीछे वाले हिस्से की जमीन को निगम को आवंटित करें। जिससे कुमाऊं का प्रवेश द्वार के नाम से प्रसिद्ध इस आवास गृह को पूर्व की भांति संचालित किया जा सके।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement