बालश्रम और बालभीक्षा पर अंकुश लगाने के लिए घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी चला रही है अभियान

Advertisement

पिथौरागढ़ l पिथौरागढ़ में घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा बालश्रम और बालभीक्षा पर अंकुश लगाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। रिसर्च और जागरूकता अभियान के दौरान संस्था घर घर और दुकानों पर जाकर बालश्रम और बालभीक्षा में लिप्त बच्चों को चिन्हित करने का कार्य कर रही है। नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट , मुंबई में एमबीए के छात्र अभिजीत इस अभियान में अहम भूमिका निभा रहे हैं। 200 से अधिक रिसर्च सैंपल कलेक्ट कर संस्था की दो टीम इस पर कार्य कर रही है, जिसके अंतर्गत अभी तक बालश्रम में 2 बच्चे संस्था ने चिन्हित किए हैं पर बालभिक्षा में अभी तक लिप्त बच्चे पिथौरागढ़ छेत्र में नहीं मिले हैं। संस्था की प्रेमा सुतेरी भी इस अभियान में घर और दुकानों में जा कर लोगों को जागरूक कर रही हैं और बता रही हैं की बच्चों को शिक्षा से जोड़कर उनका जीवन सुनहरा करना हमारा कर्तव्य है, न की उन्हें सस्ते दामों पर बालश्रम या बालभिक्षा के लिए इस्तेमाल करना। संस्था अध्यक्ष ने बताया की संस्था कई वर्षों से बालश्र, बालभिक्षा पर कार्य कर रही है और बच्चों को शिक्षा से जोड़ कर उनके जीवन को संवारने का काम कर रही है। उन्होंने बताया की नरसी मोनजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट जैसे संस्थानों का संस्था के साथ जुड़ना बहुत अच्छा संकेत है और निश्चित ही यह शिक्षा और सुरक्षा के छेत्र में किए जा रहे संस्था के कार्यों को और गति देने का काम करेगा। उन्होंने कहा को पहले सत्र में बालश्रम और बालभीक्षा पर रिसर्च और जागरूकता अभियान चलाया जाएगा और दूसरे चरण में बच्चों के लिए कंप्यूटर लिट्रेसी कार्यक्रम भी संस्था द्वारा चलाया जाएगा।

Advertisement