कुमाऊं यूनिवर्सिटी नैनीताल के विजिटिंग प्रोफेसर निदेशालय , आइक्यू एसी , केयू आईआईसी , और एलुमनी सेल द्वारा वीविंग ईट टुगेदर लर्निंग इंग्लिश लैंग्वेज फिर इफेक्टिव कम्युनिकेशन विषय पर ‘ व्याख्यान का आयोजन किया गया

Advertisement
Ad

नैनीताल l कुमाऊं यूनिवर्सिटी नैनीताल के विजिटिंग प्रोफेसर निदेशालय , आइक्यू एसी , केयू आईआईसी , और एलुमनी सेल द्वारा वीविंग ईट टुगेदर लर्निंग इंग्लिश लैंग्वेज फिर इफेक्टिव कम्युनिकेशन विषय पर ‘ व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसमे मुख्य वक्ता डॉक्टर पूनम सिंह अयामा गाकुन यूनिवर्सिटी टोयको जापान तथा दिल्ली विश्व विद्यालय रही। कार्य क्रम की शुरुआत द्वारा मुख्य वक्ता का परिचय कराया तथा विजिटिंग प्रोफेसर निदेशालय के कार्य प्रस्तुत किए । डॉक्टर पूनम हम विश्व गुरु बनाने में इंग्लिश भी मदद करेगी ।अंग्रेजी पूरे विश्व में बोली जाने वाली भाषा है । विदेश जाने के लिए भी जरूरी है ।हिंदी बैकग्राउंड के लोग बीबीसी के चैनल का प्रयोग करे ।रीडिंग एंड राइटिंग इफेक्शन कम्युनिकेशन देते है ।पैराग्राफ पड़े सोचे एवम लिखे कंजंक्शन का प्रयोग करे ।भारतीय संस्कृति को विदेशों में प्रचारित करने में भी इंग्लिश कारगर है ।हमारी भाषा हिंदी है किंतु हम अंग्रेजी से बेहतर कम्युनिकेट कर सकते है।।महिला ससतीकरण में भी महत्पूर्ण है ।डॉक्टर पूनम ने अपने व्याख्यान में कम्युनिकेशन स्किल के चार पहलुओं एक लिसनिंग ,स्पीकिंग ,रीडिंग ,और राइटिंग स्किल को इम्प्रूव करने के तरीके बताए। इसके साथ ही टॉफेल , जीआरई आईएल्ट्स जैसे महत्वपूर्ण एग्जाम की जानकारी भी दी। अंत में स्टूडेंट्स ने भी मुख्य वक्ता से ढेरों प्रश्न पूछे। प्रोग्राम का संचालन प्रो. ललित तिवारी, डायरेक्टर, विजिटिंग प्रोफेसर निदेशालय द्वारा किया गया। व्याख्यान में प्रो गीता तिवारी ,डॉक्टर हरिप्रिया पाठक डॉक्टर पैनी जोशी , डॉक्टर दीपिका पंत , प्रो नीलू लोधियाल ,डॉक्टर बीएस कालाकोटी ,डॉक्टर लज्जा भट्ट ,प्री ज्योति जोशी डॉक्टर गिरीश खर्कवाल, हसन खां , महेश भट्ट ,युवराज ,संजना सहित 55 प्रतिभागी , आदि मौजूद रहें।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement