200 वीं महर्षि दयानन्द जयंती संपन्न। वेदों के मार्ग पर चलने से ही कल्याण होगा -साँसद मनोज तिवारी महर्षि दयानंद के आदर्शों पर चलने की आवश्यकता-अनिल आर्य

Advertisement

नई दिल्ली l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में 200 वां महर्षि दयानंद सरस्वती जन्मोंत्सव सांसद मनोज तिवारी के निवास 24,मदर टेरेसा करिसेंट रोड,नई दिल्ली में सोल्लास मनाया गया।कार्यक्रम का शुभारंभ आचार्य गवेन्द्र शास्त्री ने यज्ञ के साथ किया गया।मनोहर वेदपाठ कन्या गुरुकुल राजेंद्र नगर की ब्रह्मचार्णियों ने किया।

मुख्य अतिथि मनोज तिवारी (संसद सदस्य) ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का उद्घाटन करते हुए कहा कि वेदों की ओर लौटने से ही राष्ट्र का कल्याण होगा।महर्षि दयानन्द समग्रक्रांति के अग्रदूत थे,उन्होंने जातपात ऊंचनीच भुला कर समाज को जोड़ने का कार्य किया।आर्य समाज उनके आदर्शों को ज़न ज़न तक पहुंचाने का सराहनीय कार्य कर रहा हैIमहर्षि दयानन्द एक क्रांतिकारी सन्यासी थे जिन्हें 200 वर्ष बाद भी याद किया जाएगाIउन्होंने महर्षि दयानंद की 200 वीं जयंती को अपने निवास पर मनाने पर स्वयं को गौरवान्वित महसूस किया।उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वक्तव्य में कहा है जो विश्वास स्वामी दयानंद को वेदों पर था उसे कैसे हम अपने आत्मविश्वास में ला सकते हैं जिससे सदियों तक स्वामी दयानंद जी हमारे मन मस्तिष्क में रहें।वक्त ने पुनः कहा कि आज हमारा आवास पवित्र हुआ जो यह आयोजन यहां हुआ है।भारत यूं ही नहीं खड़ा है,स्वामी दयानंद के इसमें अथक प्रयास थे।उनका लिखा हुआ सत्यार्थ प्रकाश एक बार इसको भी पढ़ो और स्वयं को जान लो अपनी संस्कृति को पहचान लो।वह बुद्धिमान व्यक्ति है जो दूसरों की पत्नियों को अपनी माँ के समान,दूसरों के धन को मिट्टी के ढेले के समान और सभी प्राणियों को अपनी आत्मा के समान देखता है।

यह भी पढ़ें 👉  बीडी पांडे अस्पताल के आपातकालीन कक्ष में लगाई हेल्थ एटीएम मशीन

राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि महर्षि दयानंद सरस्वती जी के सिद्धान्त आज भी प्रासंगिक है और उस पर चलने की आवश्यकता है।स्वामी दयानन्द के आदर्शो को अपनाने से ही विश्व में शान्ति स्थापित हो सकती है।आर्यजनों को विश्व को बदलने का कार्य करना है।

यह भी पढ़ें 👉  शुक्रवार को पांच सूत्रीय मांगों को लेकर आशाओं ने सीएमओ कार्यालय में धरना प्रदर्शन किया

योगाचार्य सविता तिवारी (राज्य प्रभारी महिला पतंजलि योग समिति दिल्ली),संध्या बजाज (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट )ने संबोधित करते हुए नव जागरण का आह्वान किया।पिंकी आर्या,ऋचा गुप्ता, प्रवीण आर्य, विजय कपूर, रमेश बेदी आदि ने मधुर भजन प्रस्तुत किए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता तिहाड़ जेल के पूर्व डी आई जी सुनील गुप्ता ने की।

इस अवसर पर पूर्व विधायक नीलकमल खत्री, देवेन्द्र भगत, प्रकाश वीर शास्त्री, रमेश गाड़ी, शांता तनेजा, सोनिया संजू, वीना बजाज, सुशील बाली, अर्चना मोहन, सुरेश आर्य, तुलसी भाटिया,यज्ञवीर चौहान,देवेंद्र गुप्ता, सत्यपाल आर्य,डा. प्रमोद सक्सेना,आशा आर्या, दशरथ भारद्वाज आदि उपस्थित थे।

Advertisement