स्वामी श्रद्धानन्द पर व्याख्यान माला संपन्न स्वामी श्रद्धानंद शुद्धि आंदोलन के प्रणेता थे -डॉ. विवेक आर्य

Advertisement

नैनीताल l भारतीय हिन्दू शुद्धि सभा के तत्वावधान में “स्वामी श्रद्धानंद ” पर आर्य समाज डेरावाल नगर(मॉडल टाउन) दिल्ली में व्याख्यान का आयोजन किया गया। वैदिक प्रवक्ता डॉ. विवेक आर्य ने कहा कि स्वामी श्रद्धानंद जी का हिन्दू जाति के लिए बलिदान अतुलनीय था उन्होंने देश व धर्म के लिए अपने सर्वस्व परिवार को न्यौछावर कर दिया।डॉ.विवेक आर्य ने स्वामी जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके द्वारा आरंभ किए गए शुद्धि एवं दलितों के उद्धार के कार्य को आगे बढ़ाने के किए प्रेरणा दी।आज 100 वर्ष पश्चात हम उसी मोड़ पर खड़े हैं। इसलिए हिंदू समाज को इस कार्य को तत्परता से करने का संकल्प लेना चाहिए।यह हमारी आने वाली पीढ़ियों की रक्षा के लिए अत्यंत आवश्यक हैं।इस अवसर पर भारतीय हिंदू शुद्धि सभा द्वारा प्रकाशित साहित्य को भी उपलब्ध करवाया गया था। कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्व मेट्रो पोलिटन मजिस्ट्रेट ओम सपडा़ ने भूमिका बनाते हुए घर वापसी अभियान के महत्व व आवश्यकता पर प्रकाश डाला।केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि जो हिन्दू किसी भय या लालच के कारण विधर्मी बन गए थे उन्हें पुनः वापिस लाने के स्वामी श्रद्धानंद जी ने भारतीय हिन्दू शुद्धि सभा की स्थापना की थी आज घर वापिस लाने के कार्य को गति देने की आवश्यकता है। कार्यक्रम का संचालन अविनाश चुघ ने किया उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से एतिहासिक जानकारी मिलती है। आचार्य भोला नाथ शास्त्री ने सभी का अभार व्यक्त किया। इस अवसर पर संजीव आर्य, अवधेश प्रताप सिंह, बनवारी लाल आर्य, हस्त लेखक द्रोणाचार्य, गोपाल आर्य, शंकर गुप्ता आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में सीजीएचएस वेलनेस सेंटर खोले जाने एंव दून सीजीएचएस के तहत आयुर्वेदिक चिकित्सा सेवा यूनिट शूरू किये जाने" क़ी सात साल से लंबित मांगो को स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान किये जाने पर "दून केंद्रीय पेंशनर्स एसोसिएशन" ने हर्ष व्यक्त किया है

Advertisement