जिलाधिकारी वंदना सिंह अध्यक्षता में बुधवार को कैंप कार्यालय सभागार में विधानसभा क्षेत्र नैनीताल की विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया

Advertisement

नैनीताल l जिलाधिकारी वंदना सिंह अध्यक्षता में बुधवार को कैंप कार्यालय सभागार में विधानसभा क्षेत्र नैनीताल की विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें नैनीताल विधानसभा की विधायक के साथ जन प्रतिनिधियों और अधिकारियों ने प्रतिभाग किया। बैठक में जन प्रतिनिधियों ने मुख्य रूप लंबित सड़कों , बिजली और पानी आदि की समस्या से अवगत कराया। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को जन समस्याओं का शीघ्र निदान करने के आदेश दिए।कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाएगी।विधायक सरिता आर्य ने बताया कि बेतालघाट, तिवारी गांव, भुजान, खैरना आदि सड़कों का डामर टूट – उखड़ गया है, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम और लो नि वि के अधिकारियों को जांच कमेटी बनाकर सड़कों की जांच करने के आदेश दिए । जन प्रतिनिधियों ने बेतालघाट में आपदा के दौरान क्षतिग्रस्त हुए झूला पुल को दुरुस्त करने की मांग की। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को सर्वे कर देवीय आपदा मद से प्राथमिकता से कार्य करने के निर्देश दिए। वहीं हल्सो, बेतालघाट, बिनाकोट, सौनली आदि इलाकों में सड़कों के किनारे झाडी कटान आदि की जानकारी ली और तहसीलदार को निरीक्षण कर भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए।
बेतालघाट रिची के प्रतिनिधियों ने पानी की समस्या और पम्प संचालक द्वारा की जा रही अनियमिताएं को बताया,जिस पर जिलाधिकारी ने जल संस्थान और जल निगम को संयुक्त निरीक्षण कर योजना को संचालित कराने के निर्देश दिए । जिलाधिकारी ने नगर पालिका को दिए निर्देश
नैनीताल नगर के जन प्रतिनिधियों ने बताया कि नगर में स्थानीय लोगों द्वारा सड़कों के किनारे रेता, बजरी, निर्माण सामग्री आदि डाला जा रहा है, जिससे लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिस पर जिलाधिकारी ने पालिका के अधिकारियों से कहा कि नगर में सड़कों पर निर्माण सामग्री डालने के विरुद्ध अभियान चलाने के निर्देश दिए, कहा कि सड़कों के किनारे पड़े रेता बजरी को पालिका जब्त कर चालान करने की कार्रवाही करें। साथ ही उन्होंने नैनीताल नगर के 15 वार्डों में जल और विद्युत की समस्याओं के निस्तारण के लिए शिविर लगाने की बात कही। इस दौरान अपर जिला अधिकारी पी आर चौहान, डी डी ओ गोपाल गिरी गोस्वामी समेत सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
_————–

यह भी पढ़ें 👉  राजकीय पालीटेक्निक के राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ द्वारा 7 दिवसीय विशेष शिविर कार्यक्रम तीसरे दिन भी जारी रहा

Advertisement