नैनीताल के आवागढ़ कम्पाउण्ड में स्थित चार्टन लॉज में शनिवार को हुए भू-स्खलन के उपरान्त राहव व बचाव कार्य किये गए

Advertisement

नैनीताल l रविवार को पुनः प्रभावित क्षेत्र का अपर जिलाधिकारी (वि / रा), नैनीताल, सचिव, जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण, नैनीताल, उप जिलाधिकारी, नैनीताल द्वारा तकनीकी विभाग के अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण किया गया तथा भू-स्खलन की संवेदनशीलता के दृष्टिगत तात्कालिक सुरक्षात्मक कार्यों के साथ-साथ अन्य संवेदनशील भवनों का चिन्हीकरण करते हुए सुरक्षा की दृष्टि से इन परिवारों को भी अन्यत्र सुरक्षित स्थानों पर भेजने का निर्णय लिया गया।

प्रभावित क्षेत्र का तकनीकी निरीक्षण एवं संवेदनशील व असुरक्षित क्षेत्र में आवागमन प्रतिबंधित

एक्सपोज्य सतह को तारपोल के माध्यम से पूरी तरह से ढकने एवं भू-स्खलन के टो क्षेत्र को जीयो बैग्स से तात्कालिक रोकथाम का कार्य किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  मौलिक चिंतन और नवाचार युक्त, समाज हितकारी तथा समस्या उन्मूलक शोध का विकास होना चाहिए- कुलपति प्रो० दीवान सिंह रावत

रविवार को संवेदनशील 05 परिवारों को सुरक्षित स्थलों (02 परिवार सी. आर. एस. सी. स्कूल तथा 03 परिवारों को चन्द्र भवन) में शिफ्ट करा दिया गया था तथा 12 अन्य परिवार जो कि भू-स्खलन के आस-पास के घरों में निवासरत् हैं, अपने रिस्तेदरों / परिचितों के घरों में सुरक्षा के कारणों से शिफ्ट हो l 17 परिवारों के अतिरिक्त 08 अन्य भवनों को संवेदनशील चिन्हित करते हुए परिवारों को अन्यत्र शिफ्ट किया गया है। अधिकांश परिवार सुरक्षा की दृष्टि से अपने परिचितों के घर पर निवास कर रहे हैं। कुछ परिवार जोकि किराए के भवनों में रह रहे थे, वे अन्यत्र किराए के भवनों में चले गये हैं तथा 01 संवेदनशील भवन पूर्व से ही खाली था। इनमें से 14 भवन स्वामियों द्वारा अपना भवन खाली करने उपरान्त ताला लगा दिया गया है, शेष भवनों से सामान खाली करते हुए ताला लगाए जाने की कार्यवाही चल रही है। इसके अतिरिक्त आस-पास के 12 अन्य भवन स्वामियों को सतर्क रहने की हिदायत दी गई है।

Advertisement