7 अक्टूबर को हल्द्वानी के बुद्ध पार्क में महिलाओं के नेतृत्व में होगी जन न्याय सुनवाई

Advertisement

उधमसिंह नगर जिला प्रशासन की मध्यस्थता में इंटरार्क कंपनी व मजदूरों के बीच हुवे समझौते को लागू कराने में नाकाम साबित हो रहे प्रशासन से खिन्न होकर 7 अक्टूबर 2023 को हल्द्वानी स्थित बुद्धपार्क में महिलाओं के नेतृत्व में होगी जन न्याय सुनवाई और मानव सृंखला बनाकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अन्न(मिलेट्स )महोत्सव में की जाएगी मुलाकात और सुनिश्चित कराई जाएगी प्रशासन व अधिकारियों की जवाबदेही। इस हेतु महिलाओं द्वारा 26 सितंबर को जिलाधिकारी उधमसिंह नगर के माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्री को ज्ञापन के माध्यम से प्रेषित की जायेगी पूर्व सूचना अपरजिलाधिकारी नजूल एवं प्रशासन की अध्यक्षता में जिला प्रशासन की मध्यस्थता में इंटरार्क कंपनी प्रबंधन एवं मजदूरों के बीच लिखित रूप में त्रिपक्षीय समझौता दिनाँक-15/12/2022 संपन्न हुआ था ।जिसमें उधमसिंह नगर जिले के सबसे बड़े श्रम अधिकारी की हैंडराइटिंग में बिंदू संख्या -(3) में स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि समझौते के तहत कार्य पर बहाल किये गए 64 निलंबित मजदूरों में से जिन 34 मजदूरों की कंपनी द्वारा घरेलू जांच कराई जायेगी उन्हें जांच के दौरान एवं जांच के पश्चात नौकरी से बर्खास्त नहीं किया जायेगा ।किन्तु कंपनी मालिक व प्रबंधन द्वारा उक्त 34 मजदूरों में से 11 मजदूरों की एकतरफा घरेलू जांच कराकर उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर उक्त समझौते को तार तार कर दिया है ।उक्त 34 मजदूरों को समझौते के करीब 10 माह पश्चात भी उनके मूल नियोजक कंपनी सिडकुल पंतनगर व किच्छा में कार्य पर बहाल नहीं किया गया है ।और उन्हें संमझौते के तहत वेतन वृद्धि का लाभ भी प्रदान नहीं किया गया है ।इसके खिलाफ पीड़ित मजदूरों द्वारा जिला प्रशासन व कुमाऊँ आयुक्त को कई बार लिखित शिकायत करने ,जिलाधिकारी आवास व मंडलायुक्त कुमाऊँ क्षेत्र के कार्यालय के समक्ष मजदूरों ,महिलाओं व बच्चों द्वारा अन्य यूनियनों व सामाजिक संगठनों के साथ में पदयात्रा निकालकर अवगत कराया गया ।किन्तु प्रशासन द्वारा इसके पश्चात भी समझौते को लागू कराने को कोई भी प्रयास नहीं किये गये।और इंटरार्क कंपनी मालिक के सम्मुख पूरी तरह से आत्मसमर्पण कर दिया है । इसलिए अब मजदूरों व महिलाओं को जिला प्रशासन से कोई भी उम्मीद नहीं है।उन्हें ऐसा प्रतीत हो रहा है कि वर्ष 2022 में मजदूरों का आंदोलन व धरना खत्म कराने की साजिश के तहत ही जिला प्रशासन व कंपनी मालिक द्वारा एकराय होकर ही छल कपट की नीति के तहत ही उक्त समझौते को कराया गया और जिससे उंस समय प्रबंधन प्रतिनिधि भी पूर्णतः सहमत थे।अब समझ में आ रही है कि वो सबकुछ एक साजिश का हिस्सा था और दिखावा मात्र था ।इसी साजिश के तहत मजदूरों को धोखा देते हुवे संमझौते के प्रति पूर्ण सहमति दिखाने का झांसा देने की साजिश के तहत ही समझौते के अगले दिन 16 दिसंबर 2023 को कंपनी प्रबंधन द्वारा श्रमिक प्रतिनिधियों संग मिलकर ALC रुद्रपुर के समक्ष 100रुपये के स्टाम्प पेपर पर शपथपत्र प्रस्तुत कर संमझौते के प्रति वचनबद्धता की झूठी शपथ ली और उक्त समझौते की नोटरी भी कराई ।। ●अन्यथा और क्या कारण हैं कि जिला प्रशासन अपनी मध्यस्थता में संपन्न हुवे उक्त समझौते को लागू नहीं करा रहा है ।और मंडलायुक्त भी खामोश हैं ।इसलिए इसके खिलाफ 7 अक्टूबर 2023 को महिलाओं के नेतृत्व में तिकोनिया ,हल्द्वानी स्थित बुद्ध पार्क में जन न्याय सुनवाई के तहत उक्त प्रकरण में सुनवाई की जायेगी ।ततपश्चात महिलाओं के नेतृत्व में MB इंटर कॉलेज में उत्तराखंड सरकार द्वारा आयोजित अन्न (मिलेट्स)महोत्सव में उपस्थित केंद्रीय गृह मंत्री के समक्ष मानव सृंखला बनाकर सभी लोग उपस्थित होंगे ।और उनसे जवाबदेही सुनिश्चित कराएंगे कि उनके केंद्रीय गृह मंत्रालय एवं भाजपा की डबल इंजन की सरकार के मातहत कार्यरत उधमसिंह नगर जिला प्रशासन व मंडल प्रशासन के अधीन कार्यरत आला अधिकारी जिला प्रशासन की मध्यस्थता में हुवे लिखित समझौते को आखिर लागू क्यों नहीं करा रहे हैं?और इस हेतु प्रशासन व सरकार की जवाबदेही सुनिश्चित कराएंगे । ●उक्त कार्यक्रम की पूर्व सूचना हेतु महिलाओं द्वारा दिनाँक-26/09/2023 को प्रातः 11 बजे जिलाधिकारी उधमसिंह नगर से मुलाकात कर उनके माध्यम से केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह को ज्ञापन प्रेषित किया जायेगा और 7 अक्टूबर 2023 को महिलाओं के नेतृत्व में आयोजित उक्त कार्यक्रम की पूर्व सूचना प्रेषित की जायेगी। विज्ञप्ति जारीकर्ता-अध्यक्ष दलजीत सिह मो-8265911998अध्यक्ष हृदेश कुमार मो-9759912790 इन्टरार्क मजदूर संगठन उधम सिंह नगर व किच्छा

Advertisement