कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षणेत्तर कर्मचारी महासंघ ने विश्वविद्यालय प्रशासन के निर्णय का स्वागत किया है

Advertisement

नैनीताल l कुमाऊं विश्वविद्यालय शिक्षणेत्तर कर्मचारी महासंघ ने विश्वविद्यालय प्रशासन के उस निर्णय का स्वागत किया है जिसमें प्रशासन द्वारा महासंघ की मांग पर विश्वविद्यालय में पारदर्शी स्थानांतरण नीति बनाने एवं प्रत्येक अनुभागवार कर्मचारियों का ढांचा बनाया जाने का निर्णय लिया है और संबंधित समिति को रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया हैं। वहीं संगठन ने डी एस बी परिसर में आ रही समस्या के दृष्टिगत आवश्यक कर्मचारियों के स्थानांतरण स्थगित करने का भी स्वागत किया है।

महासंघ के अध्यक्ष आनंद रावत और महामंत्री दीपक जोशी ने बताया कि संगठन द्वारा विश्वविद्यालय में एक लंबे समय से पारदर्शी स्थानांतरण नीति और अनुभागवार कर्मचारियों का ढांचा बनाने की मांग भी लंबे समय से की जा रही है। इस संबंध में भी कुलपति द्वारा संबंधित समिति को दो सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देने का निर्देश जारी किया है। इसके उपरांत उक्त समिति की बैठक 16 मार्च को निश्चित कर दी गई है। इसके साथ ही समस्त कर्मचारियों की एक कॉमन सेवनियमावली बनाए जाने हेतु भी गठित समिति की बैठक भी आगामी 16 मार्च को निश्चित कर दी गई है। वहीं कुलपति द्वारा विश्वविद्यालय के ऐसे कर्मचारी जिन्हें कंप्यूटर संचालन में दक्षता नही है उन्हें इसका प्रशिक्षण देने हेतु ट्रेनिंग कार्यक्रम चलाने का भी आदेश दिया है। इन सभी हेतु संगठन ने कुलपति प्रो दीवान सिंह रावत एवं कुलसचिव दिनेश चंद्र का आभार व्यक्त किया है।

यह भी पढ़ें 👉  श्री हनुमान जन्मोत्सव पर विशेष

बैठक में कुलपति द्वारा महासंघ के साथ ही विश्वविद्यालय के संगठनों को प्रत्येक दो माह में उनकी मांगों की समीक्षा हेतु वार्ता करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  मुक्ति" पर गोष्ठी संपन्नहर जीवात्मा स्वतंत्रता चाहती है-अतुल सहगल

प्रशासन के इन सभी निर्णय हेतु उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष भूपाल सिंह करायत, डी एस बी परिसर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष गणेश बिष्ट, सचिव राजेंद्र ढैला, भीमताल परिसर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष भगवान ध्यानी, सचिव रमेश भट्ट सहित सभी कर्मचारियों ने खुशी जाहिर की है।

Advertisement