इग्नू में जुलाई 2024 सत्र में नए प्रवेश के लिए ऑनलाइन पोर्टल द्वारा आवेदन शुरू।

Advertisement


प्रवेश के लिए लिंक https://ignouadmission.samarth.edu.in/
अंतिम तिथि 30 जून 2024 ।
जुलाई 2024 सत्र के लिए पुनः पंजीकरण की अंतिम तिथि 30 जून 2024 । इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने जुलाई 2024 सत्र में प्रवेश की प्रक्रिया के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू कर दिया है। शिक्षार्थी अंतिम तिथि तक इग्नू द्वारा संचालित विभिन्न ऑनलाइन एवं ओडीएल कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। इग्नू क्षेत्रीय केंद्र, देहरादून के वरिष्ठ क्षेत्रीय निदेशक डॉ. अनिल कुमार डिमरी ने बताया कि शिक्षार्थी निम्न लिंक https://ignouadmission.samarth.edu.in/
पर जाकर दिए गए प्रोग्राम इनफार्मेशन (PROGRAMME INFORMATION) पर क्लिक करके कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। प्रवेश की पुष्टि के बाद योग्य छात्र राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल https://scholarships.gov.in/ पर भारत सरकार की छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं। पंजीकरण के समय यदि संभव हो तो अपना ही ईमेल और मोबाइल नंबर प्रदान करें जिससे कि इग्नू द्वारा भेजी जाने वाली महत्वपूर्ण सूचनाएं सीधे शिक्षार्थियों तक पहुंचे। ऑनलाइन आवेदन कैसे करना है उसके लिए EMPC-IGNOU के आधिकारिक YouTube चैनल पर जाकर अधिक जानकारी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने आगे बताया कि उत्तराखंड के लगभग प्रत्येक जिले में विभिन्न अध्ययन केंद्रों के माध्यम से इग्नू का नेटवर्क फैला हुआ है। शिक्षार्थी इन अध्ययन केंद्रों पर जाकर केंद्र के समन्वयक से दूरस्थ शिक्षा प्रणाली एवं इसमें प्रवेश की प्रक्रिया के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में देहरादून , पौड़ी , रुद्रप्रयाग , उत्तरकाशी , चमोली एवं कुमाऊँ क्षेत्र में उधम सिंह नगर , अल्मोड़ा , पिथौरागढ़ , चम्पावत , नैनीताल एवं बागेश्वर जिलों में इग्नू के अध्ययन केंद्र स्थित हैं। शिक्षार्थियों की सुविधा हेतु कुछ जिलों में एक से अधिक अध्ययन केंद्र उपलब्ध हैं।जो शिक्षार्थी जुलाई 2024 सत्र के लिए पुनः पंजीकरण के पात्र हैं ऐसे छात्र निम्न लिंक https://onlinerr.ignou.ac.in/ पर जाकर अंतिम तिथि दिनांक 30 जून 2024 तक पुनः पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जन भावनाओ और संघर्षो से बना है राज्य हर किसी को करना चाहिए सम्मान - जोशी, न्यायिक राजधानी पहाड़ का मुकुट -

Dr lalit tewari

Advertisement