लो वोल्टेज बनी पेयजल समस्या का कारण

Advertisement
Ad

नैनीताल। शहर के सभी क्षेत्रों में पम्पों के ज़रिए पेयजल आपूर्ति करवाई जाती है। शहर में लगभग 28 पम्प हैं जिनसे नैनीताल के 15 वार्डों और लगभग 300 से अधिक होटलों में पेयजल आपूर्ति करवाई जाती है।
लेकिन इस समय जहां गर्मी रिकार्ड स्तर पर है वहीं क्षेत्र में बिजली और पानी की समस्या भी बनी हुई है।
बिजली की लो वोल्टेज के कारण शहर के पम्प भी नहीं चल पा रहे हैं। सामान्य तौर पर पेयजल आपूर्ति के लिए लगभग 400 वॉट की ज़रूरत होती है।
लेकिन इन दिनों मात्र 370 वॉट ही बिजली आ रही है।जिसके कारण पम्पों को एक साथ चलाने में दिक़्क़तों का सामना करना पड़ रहा है।एक बार में एक दो ही पम्प चल पा रहे हैं। पम्पों के सही से नहीं चलने के कारण तल्लीताल , शेरवानी, सात नम्बर, चार्टन लॉज, स्प्रिंग फ़िल्ड, ब्रे साइड, तारा हॉल, पापलर हाऊस आदि क्षेत्रों में पेयजल संकट बना हुआ है।
………………………………..
जल संस्थान के सहायक अभियंता डीएसए बिष्ट का कहना है कि शहर में कुल 28 पम्प हैं जिनसे शहर में पेयजल आपूर्ति करवाई जाती है।पम्पों को चलाने के लिए 400 वॉट की ज़रूरत होती है।लेकिन कुछ दिनों से 370 वॉट ही बिजली आ रही है जिसके कारण पम्पों को चलाने व पेयजल आपूर्ति करने में समस्या आ रही है।
………………………..
जल संस्थान के एसडीओ प्रियंक पांडे ने बताया कि बिजली की मॉंग ज़्यादा होने के कारण वोल्टेज कम है।जिस कारण वोल्टेज में कमी आ रही है।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement