मानव अधिकार आयोग मि• की कानून विधि सचिव बनी चौधरी

Advertisement

नैनीताल l मानव अधिकार आयोग नई दिल्ली के मुख्य संरक्षक, पूर्व राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग अध्यक्ष एवं पूर्व न्यायाधीश केजी बालाकॄष्णन के आदेशानुसार पूर्व अध्यक्षा राष्ट्रीय महिला आयोग भारत श्रीमती ममता शर्मा की सहमति से पूर्व जस्टिस सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली श्रीमती सुधा मिश्रा के अनुशंसा पर संगठन के हरियाणा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीपी शर्मा द्वारा काजल चौधरी मानव अधिकार आयोग की जिला कानून विधि सचिव नियुक्त किया हैं। उल्लेखनीय है कि काजल चौधरी पेशे से एक फ्रीलांसर पत्रकार मीडिया कर्मी रही हैं, साथ ही ये एक कानूनी सलाहकार भी है इसके साथ ही एक बहुचर्चित लेखिका कवियित्री है, अभी तक इनके कई आर्टिकल्स, लेखन कई बड़े न्यूज पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके है, इससे पूर्व इन्होंने कई भारतीय राजनीतिक बड़े दलों, संगठनों में रहकर मुख्य सलाहकार के रूप में कार्य किए हैं, नैनीताल निवासी काजल चौधरी ने बताया कि उनका मुख्य उद्देश्य मानव अधिकार आयोग मि के अंतर्गत लोगों को उनके सोशल राइट्स के प्रति जागरूक करना है, और उनकी आवाज को शासन एवं प्रशासन तक पहुंचाना हैं। महिला उत्पीड़न,दहेज हत्या,श्रमिक शोषण,बाल श्रम,साम्प्रदायिक हिंसा, कैदियो का उत्पीड़न, झूठे मामलें,गैर कानूनी कार्य, पुलिस कार्य में विफलता, भुखमरी, एफआईआर दर्ज नहीं करना, ठेकेदारी में बेईमानी, बलात्कार, बिना सूचना नौकरी से निकाल देना, फर्जी मुठभेङ, मजदूरी कराकर पैसे न देना आदि मुद्दों को प्रमुखता से उठाता है। चौधरी ने बताया कि इस प्रकार के किसी भी मामलें की सूचना प्राप्ति पर मानव अधिकार आयोग मि• आगे बढ़कर कदम उठाएगा, संबंध सरकारी अधिकारियों, विभागों व निकायों के संज्ञान में मामलें को लाने के साथ ही पीड़िता को न्यायिक उपचार व क्षतिपूर्ति दिलाना मानव अधिकार की प्राथमिकता है। इनकी नियुक्ति पर ईष्ठ मित्रों ओर परिवारजनों ने बधाई दी है।

Advertisement