चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का समापन

Advertisement
Ad

भीमताल l कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल स्थित भेषज विज्ञान विभाग में विशेषीकृत एनालिटिकल इंस्ट्रूमेंट्स के तहत हाई परफार्मेंस लिक्विड क्रोमेटोग्राफी उपकरण पर आधारित चार दिवसीय कार्यशाला का समापन किया गया जिसमें 33 प्रतिभागियों ने भाग लिया। जानकारी देते हुए भेषज विज्ञान विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर अनीता सिंह ने बताया की विभिन्न दवाओं की गुणवत्ता के परीक्षण सहित खाद्य सामग्री, उर्वरक सामग्री सहित विविध रसायनों की जांचों के लिए हाय परफॉर्मेंस लिक्विड क्रोमेटोग्राफी एक महत्वपूर्ण उपकरण है जिसका उपयोग विभाग में शोध हेतु किया जाता है। विभाग के विद्यार्थियों को उक्त उपकरण से दक्ष करने हेतु प्रतिवर्ष विभाग द्वारा इस उपकरण के उपयोग पर केंद्रित होकर कार्यशाला का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष विभाग द्वारा छठवीं बार इस कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें नई दिल्ली स्थित सिमदजू इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंधक और विशेषज्ञ डॉक्टर संतोष भारद्वाज एवं उत्तराखंड सरकार के दवा विश्लेषण प्रयोगशाला रुद्रपुर में कार्यरत विकास गंगवार के साथ विभाग में कार्यरत सहप्रभारी प्रयोगशाला डा लक्ष्मण सिंह रौतेला द्वारा अलग-अलग दिवस में प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला के समापन सत्र में बोलते हुए परिसर निदेशक प्रोफेसर एल के सिंह द्वारा विद्यार्थियों को तकनीकी ज्ञान के क्षेत्र में बेहतर करने हेतु प्रोत्साहित किया तथा भेषज विज्ञान विभाग द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित कार्यशालाओं की सराहना की। समापन सत्र में सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र जारी किए गए। कार्यक्रम में परिसर की अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर वीना पांडे, जैव प्रौद्योगिकी विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर तपन नैनवाल, कार्यशाला की सहसंयोजक कोमल चंद्रा, विभागीय शिक्षक सुष्मिता बाला, प्रयोगशाला के सह प्रभारी डॉ लक्ष्मण सिंह रौतेला, अदिति रौतेला, ललित उपाध्याय, अनीता खोलिया, पुष्कर ढैला, नरेंद्र नेगी, अनिल कुमार, लियाकत सहित समस्त प्रतिभागी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कार्यशाला की सह संयोजक कोमल चंद्रा ने किया।

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement