पूर्व विधायक डॉ नारायण सिंह जंतवाल ने व्यक्त की शोक संवेदना

Advertisement

नैनीताल l पर्वतीय सांस्कृतिक उत्थान मंच हल्द्वानी के संस्थापक अध्यक्ष व मंच के गठन में प्रमुख भूमिका निभाने वाले बलवन्त सिंह चौफाल नहीं रहे, चित्रशिला में उनका पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया! मंच के गठन के बाद हल्द्ववानी में सांस्कृतिक जुलूस उत्तरायणी के अवसर पर सदैव व्यापक भागीदारी के साथ गरिमापूर्ण तरीक़े से निकलता रहा है, सांस्कृतिक रूप से पर्वतीय समाज को जागरूक व एकजुट करने में मंच की महत्वपूर्ण भूमिका रही है! सांस्कृतिक जुलूस में शुरूआत से लम्बे समय तक साथियों के साथ हम लोग भी शामिल होते रहे!
उस दौर में पहल कर पर्वतीय संस्कृति के संरक्षण व संवर्धन के लिये उनके योगदान को हमेशा आदर के साथ याद किया जाएगा!
मंच की गतिविधियों के लिए हीरानगर में स्थान दिलाने के लिए भी उनकी अगुवाई में बड़ा संघर्ष सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ।
उनके साथ कार्य करने का सिलसिला उनके उत्तराखंड क्रांति दल में सम्मलित होने के बाद और भी बढ़ गया! हल्द्वानी में अकसर उनकी दुकान में बैठ चर्चा परिचर्चा होती रहती थी!
उत्तराखंड क्रांति दल ने उन्हीदिनो विकास विरोधी वन संरक्षण अधिनियम के खिलाफ सीधी कार्रवाई का संघर्ष प्रारंभ किया था! हम लोगों ने कैंची हरतपा मोटर मार्ग की बाधाओं को दूर करने हेतु बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया, चुफालजी अन्य साथियों के साथ चढ़ाई चढ़ कर संघर्ष स्थल। पर पहुँचे !
चुफाल के निधन से पर्वतीय समाज ने अपनी एक सशक्त आवाज़ को हमेशा के लिए खो दिया है,उनकी कमी महसूस की जायेगी!

Advertisement