राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज डोभालवाला में “जन सहभागिता द्वारा कचरे का उचित प्रबंधन ” विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया

Advertisement
Ad

नैनीताल l मंगलवार को उत्तराखंड साइंस एजुकेशन एवं अनुसन्धान केंद्र, (यूसर्क) के तत्वावधान मे संरक्षण सामाजिक कल्याण समिति द्वारा राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज डोभालवाला में “जन सहभागिता द्वारा कचरे का उचित प्रबंधन ” विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता विद्यालय के प्राचार्य सुरेन्द्र सिंह बिष्ट द्वारा की गई, कार्यक्रम मे युसर्क की निदेशक डाo अनीता रावत ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की l कार्यशाला मे संरक्षण संस्था के सदस्यों, गणमान्य नागरिकों, अतिथि वक्ताओ के अलावा 100 से अधिक बच्चों ने भी प्रतिभाग किया l
कार्यशाला का संचालन संस्था की सचिव अमृता ने किया l सर्वप्रथम मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलन किया गया, तत्पश्चात विद्यालय की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गयीं l संस्था सचिव अमृता ने सभी का स्वागत एवं आभार प्रकट किया l उसके पश्चात् सभी अतिथियों को पौधा भेंट कर स्वागत किया गया। संरक्षण सामाजिक समिति की अध्यक्षा ने अपने द्वारा किए गए कार्यों के विषय में जानकारी दी व कचरा प्रबंधन के समुचित व्यवस्था न होने पर चिंता व्यक्त की । उनके द्वारा कचरे के प्रकार व उसके निस्तारण की व्यवस्था पर अपने बात कहीं। इसके लिए उन्होंने बच्चों के द्वारा इस मुहिम को प्रभावी बनाने की बात कही। संभव मंच परिवार द्वारा पर्यावरण संरक्षण पर आधारित नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया, उन्होंने नाटक के माध्यम से बच्चों को पर्यावरण संरक्षण का सन्देश दिया l उसके पश्चात् संस्था की अध्यक्ष लक्ष्मी मिश्रा ने संस्था द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी साँझा की एवं मुख्य अतिथि को अंगवस्त्र पहनाकर सत्कार किया l मुख्य अतिथि डाo अनीता रावत ने बताया कि आने वाली चुनौतियों के लिए हम सब को तैयार रहना है व हम इन चुनौतियों को पार करने में युवा व बच्चों का योगदान महत्त्वपूर्ण होगा। हिमालय में चार मुख्य बिंदुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी। सामाजिक, आर्थिक तकनीकी व विज्ञान के माध्यम से उन्होंने बताया कि हमने अब तक 54 लेब विभिन्न इंटर कॉलेज में स्थापित कर चुके है। हम सब मिल कर कार्य करेगे मिले जुले प्रयास से अभिभावक बनकर हम कार्य को आगे बढ़ा सकते हैं। हम अपने संस्कारो को भूल कर आगे बढ़ रहे हैं, विज्ञान एवं तकनीकी आवश्यक है पर अपने नैतिक मूल्यों व संस्कारो को छोड़ कर नहीं।
कार्यशाला मे पधारे अतिथि वक्ता इको ग्रुप सोसाइटी के अध्यक्ष आशीष गर्ग ने बच्चों को प्लास्टिक कचरे से होने वाले नुकसान के बारे मे बताया तथा प्लास्टिक से इको ब्रिक्स बनाना सिखाया और उसके उपयोग भी बताये, वेस्ट वारियर्स संस्था के प्रमुख नवीन सदाना द्वारा कचरे के निस्तारण एवं घर पर कचरे को ऐसे कम करें विषय पर जानकारी साँझा की l
प्रमुख संस्था से पधारे परमजीत सिंह ने हरे कचरे के प्रबंधन की जानकारी दी, स्पेक्स संस्था के सचिव डाo ब्रिज मोहन शर्मा ने इलेक्ट्रॉनिक कचरे के प्रबंधन पर विस्तार से बताया l नगर निगम देहरादून से पधारे मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डाo अविनाश खन्ना ने भी अपने विचार व्यक्त किए।
अंत मे कार्यशाला के अध्यक्ष विद्यालय के प्राचार्य श्री सुरेंद्र सिंह बिष्ट ने भी अपने विचारों को साँझा करते हुए बताया कि विद्यालय में बहुत प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। उसमें हमें बहुत कुछ बताया व सिखाया जाता है परन्तु हम आत्मसार कितना करते हैं कितनी चीजों को अपनाते हैं। हम अपने जीवन में कुछ ना कुछ ऐसा करें जिससे हम अपने पर्यावरण को स्वच्छ व सुंदर बनाया जा सके। तत्पश्चात बच्चों को पुरुस्कार वितरित किये गये l कुछ दिन पहले “अपने शहर को कचरामुक्त कैसे रखे ” विषय को बच्चों ने चित्रकला के माध्यम से दर्शाया था l
कार्यशाला मे संस्था अध्यक्ष लक्ष्मी मिश्रा, उपाध्यक्ष ऋचा नौटियाल, सचिव अमृता, सह सचिव नरेश नौटियाल, कोषाध्यक्ष नरेश चमोली, सदस्य प्रांजल, शीला चौहान, शेखर पाल, युवराज, गहना कौशिक, आरती मलासी सहित स्कूल के प्रधानाचार्य श्री सुरेंद्र सिंह बिष्ट, सामाजिक कार्यकर्ता एवं शैल कला एवं ग्रामीण विकास समिति के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी एस. चन्द्रा, सामाजिक कार्यकर्ता नीरज उनियाल, दुश्यंत कुमार एवं अध्यापकगण एवं स्कूली छात्र-छात्राएं उपस्थित थे, कार्यशाला के समापन पर संस्था की अध्यक्ष लक्ष्मी मिश्रा द्वारा धन्यवाद प्रेषित किया गया l

Advertisement
Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement