युवा स्वरोजगार का सृजन कर अन्य को भी दें रोजगार: प्रो. अतुल जोशी

Advertisement


नैनीताल। डीएसबी परिसर के वाणिज्य विभाग में उद्यमिता विकास योजना के तहत प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। बुधवार को प्रशिक्षण में विषय विशेषज्ञों ने विचार रखे। इस दौरान युवाओं को खुद स्वरोजगार का सृजन कर अन्य को भी रोजगार देने के गुर सिखाए गए। जिससे युवा रोजगार की तलाश में जाने की बजाए अपना स्वरोजगार स्थापित कर सकें।
वाणिज्य विभाग के संकायाध्यक्ष एवं विभागाध्यक्ष प्रो. अतुल जोशी ने प्रशिक्षु तथा छात्र-छात्राओं को अभिप्रेरित कर कहा कि आज का युग नवाचार का युग है। ऐसे में नवीन विचारों के साथ किए जाने वाले उद्यम से ही स्वयं एवं राष्ट्र का संपूर्ण विकास किया जा सकता है। उन्होंने कार्यक्रम में शामिल सभी विषय विशेषज्ञों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में पहुंचे स्थानीय उद्यमियों में पंगूट स्थित मास कोटिया फॉर्म के गगन आनंद ने छात्रों को अपने अनुभव साझा किए। कहा कि उन्होंने आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए करने करने के बाद विदेश में सेवा करने के बावजूद उत्तराखंड को अपनी कर्मभूमि बनाया। कहा कि असंख्य प्राकृतिक पर्यटक उत्पादों की उपलब्धता होने से ये उत्तराखंड को दुनियां भर के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनाती है। जिनका सतत उपयोग करने से यहां के युवाओं को अपनी आजीविका का निर्वहन करने के विविध आयाम प्राप्त हो सकते हैं। सोसाइटी फॉर उत्तरांचल डेवलपमेंट एंड हिमालयन एक्शन के प्रोजेक्ट कॉर्डिनटोर बचीसिंह बिष्ट ने उद्यमिता विकास कार्यक्रम में प्रशिक्षुओं को उनकी संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यों के संबंध में जानकारी दी। सर जेसी बोस परिसर भीमताल के डॉ. नरेंद्र ने भी विचार रखे। इस मौके पर भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान अहमदाबाद के सुमित कुमार मिश्रा समेत वाणिज्य विभाग के प्राध्यापक डॉ. आरती पंत, डॉ. विजय कुमार, डॉ. ममता जोशी, डॉ. निधि वर्मा, डॉ. हिमानी जलाल, अंकिता आर्या, डॉ. पूजा जोशी, डॉ. तेज प्रकाश, डॉ. विनोद जोशी, डॉ. जीवन उपाध्याय, रीतिशा शर्मा, डॉ. गौतम रावत आदि रहे।

Advertisement