शीतल ने फतह की माउंट यूटी कांगड़ी की चोटी

Advertisement

नैनीताल l पर्वतारोही शीतल ने पुनः माउंट यूटी कांगड़ी की चोटी फतह की है । यह चोटी समुद्र तट से 6070 मीटर की ऊंचाई पर है। शीतल ने लिगामेंट ऑपरेशन के बाद यह सफलता हासिल की है।
शीतल ने बताया कि लिंगामेंट ओप्रेसन के बाद लगा महसूस हुआ था कि सब कुछ खत्म हो गया, लेकिन 12वीं फेल फिल्म देखने के बाद उसमें दोबारा खुद में विस्वास जगा। इस जज्बे के बाद पूनः चढ़ाई शुरू की और शुरुआत से शुरू कर दी और मंजिल फतह करने में सफल रही। इसके लिए शीतल हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त किया है। साथ ही एथिकल हिमालय एक्सपीडिशन और उनके पर्वतीय विशेषज्ञ मार्गदर्शकों का आभार व्यक्त किया है। शीतल ने इस सफलता का श्रेय परिजनों को दिया है। जिन्होंने अच्छे-बुरे में उसका साथ दिया है। शीतल ने पूर्व में भी काफी उपलब्धियां हासिल की है साहसिक खेल का सबसे बड़ा पुरुष्कर तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड से सम्मानित तथा दुनिया की सबसे कम उम्र में सफलतापूर्व माउंट कंचानजोगा, ऐवरेस्ट, अन्नपूर्णा तथा आदि कैलाश रेंग में माउंट चीपीदंग को लीड करने वाली शीतल ने खेलों इंडिया नेशनल चैंपियन शिप में कांस्य पदक जीता तथा स्कीइंग करने के दौरान उन्हें घुटने में गहरी चोट आई और आप्रेशन करना पड़ा। पूरे 2 साल बाद फिर से खड़ी हुई और -35° में सफलता पूर्वक सम्मिट किया।
जज्बा हो तो सब कुछ हासिल किया जा सकता है विल पावर होनी बोहोत जरूरी है। वर्तमान में शीतल उत्तराखंड टूरिज्म डिपार्टमेंट में थल विशेषज्ञ के रूप में कांट्रेक्ट बेस में तैनात है। शीतल की उपलब्धि पर रन 2 लिव के सचिव हरीश तिवारी समेत संस्था के अन्य सदस्यों ने शीतल को बधाई दी है और शुभकामना व्यक्त की है।

यह भी पढ़ें 👉  "त्याग की प्रतिमूर्ति आर्य सन्यासी"मान अपमान से ऊपर उठना ही सन्यास है-आचार्य चन्द्रशेखर शर्मा
Advertisement