परीक्षा नियंत्रक डॉ० महेंद्र राणा ने डीएसबी परिसर, नैनीताल में चल रही परीक्षाओं का किया औचक निरीक्षण कर दिए आवश्यक निर्देश

Advertisement

नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ० महेंद्र राणा ने डीएसबी परिसर, नैनीताल में सभी परीक्षा कक्षों में जाकर गहनता से निरीक्षण किया और नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए केन्द्र व्यवस्थापक एवं कक्ष निरीक्षकों को निर्देशित किया इस दौरान उन्होंने केन्द्र व्यवस्थापक को भी परीक्षा के दौरान निरन्तर भ्रमणशील रहकर शान्तिपूर्ण एवं नक़ल विहीन परीक्षा सम्पन्न कराने का निर्देश दिया।परीक्षा नियंत्रक डॉ० महेंद्र राणा ने केंद्रों पर सीसीटीवी, सिटिंग प्लान, कक्ष निरीक्षकों की संख्या के संबंध में विस्तार से जानकारी ली और आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की परीक्षाओं के संबंध में जो भी दिशा निर्देश समय-समय पर जारी किए गए हैं उनका कड़ाई से पालन किया जाए। उन्होंने कहा कि केंद्रों पर परीक्षा कक्ष में प्रकाश की उचित व्यवस्था हो। निरिक्षण के दौरान उन्होंने केन्द्र व्यवस्थापक को निर्देश दिए कि छात्रों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े, इसकी पूरी व्यवस्था हाे। परीक्षा के दौरान छात्रों के बैठने की अच्छे ढंग से व्यवस्था की जाए। ताकि उन्हें लिखने में कोई दिक्कत हो। निरीक्षण के दौरान डॉ० राणा ने कक्ष निरीक्षकों को बताया कि विश्वविद्यालय की परीक्षाएं पहली बार ओएमआर शीट के माध्यम से हो रही है अतः कुछ बातों का स्पष्ट रूप से ध्यान रखा जाए कि ओएमआर शीट को भरने में ब्लैक अथवा ब्लू बॉल पेन का उपयोग होना है। यूपीसी कोड जो प्रश्नपत्र के ऊपर लिखा है उसे ओएमआर शीट में अवश्य रूप से भरवाना है। अगर सेंटर कोड या रोल नंबर दिए गए खानों से छोटा हो तो उससे पहले जीरो लिखना है बाद में नही।परीक्षा नियंत्रक डॉ० महेंद्र राणा का कहना है कि परीक्षाओं के लिए विवि की ओर से हर तरह की तैयारियां की गई है। छात्रों को परीक्षा हाल में किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि किसी भी तरह की ड्यूटी में कोताही होती है तो उक्त निरीक्षक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर उनके साथ डीएसबी परिसर की निदेशक प्रो० नीता बोरा शर्मा भी उपस्थित रही।

यह भी पढ़ें 👉  आर्य समाज ने दिया भाजपा को समर्थन राष्ट्रवादी शक्तियों को विजयी बनाए -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य
Advertisement