विश्व फार्मासिस्ट दिवस के अवसर पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल स्थित परिसर में सतत शिक्षा कार्यक्रम का आयोजन किया गया

Advertisement

नैनीताल l विश्व फार्मासिस्ट दिवस के उपलक्ष पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के भीमताल स्थित परिसर में सतत शिक्षा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन करते हुए मुख्य अतिथि कुलपति कुमाऊं विश्वविद्यालय प्रो दीवान सिंह रावत ने दवा निर्माण के क्षेत्र में शैक्षिक एवं शोध संस्थानों के सफल प्रयोग एवं उसके जन स्वास्थ्य में प्रयोग में फार्मासिस्टों की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया। भेषज विज्ञान विभाग में विभिन्न अस्पतालों में कार्यरत फार्मासिस्टों के लिए आयोजित सतत शिक्षा कार्यक्रम का कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर दीवान सिंह रावत ने उद्घाटन किया उनके द्वारा विश्वविद्यालय में हो रहे शोधों को लैब से लैंड तक पहुंचाने पर जोर देते हुए जल्द ही विश्वविद्यालय में इस हेतु कार्ययोजना लागू करने की जानकारी दी। बैठक में उपस्थित जिला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर भागीरथी जोशी ने फार्मासिस्टों को स्वास्थ्य विभाग की रीड़ बताते हुए, कार्यक्षेत्र में बेहतर कार्य क्षमता हेतु नियमित प्रशिक्षण कार्यक्रम के आयोजन की आवश्यकता बताई। कार्यक्रम में खाद्य एवं औषधि विभाग के वरिष्ठ औषधि निरीक्षक अनीता भारती, मीनाक्षी बिष्ट, महेंद्र बिष्ट एवं संजय प्रभाकर को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में तीन शैक्षिक सत्रों का आयोजन किया गया जिसमें प्रथम सत्र में तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के प्राचार्य प्रोफेसर पीयूष मित्तल द्वारा प्रिसक्रिप्शन ऑडिट के संबंध में विस्तार से चर्चा करते हुए विस्तृत एवं नवीनतम जानकारियां फार्मासिस्टों को दी गई। द्वितीय सत्र में ओपन चर्चा के माध्यम से फार्मेसी क्षेत्र में हॉस्पिटल फार्मेसी के उत्थान के संबंध में सारगर्वित चर्चा की गई वहीं खाद्य एवं औषधि विभाग उत्तराखंड सरकार की विशेषज्ञ मीनाक्षी बिष्ट द्वारा दवा विक्रय, भंडारण एवं इससे संबंधित विभिन्न दिशा निर्देशों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई और अंतिम सत्र में ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय की प्रोफेसर हिमांशु जोशी द्वारा दवा के शरीर में विभिन्न प्रभावों एवं दुष्प्रभावों से रोकथाम पर विस्तृत चर्चा के द्वारा जानकारी दी गई। कार्यक्रम को कार्यक्रम संयोजक अनीता सिंह परिषद निदेशक एल के सिंह, तकनीकी संकायाध्यक्ष डॉक्टर कुमुद उपाध्याय द्वारा भी संबोधित किया गया। वही कार्यक्रम में विभाग अध्यक्ष प्रबंध अध्ययन प्रोफेसर अमित जोशी विभागअध्यक्ष बायोटेक्नोलॉजी प्रोफेसर तपन नैनवाल भी शामिल हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुल 107 पंजीकृत फार्मासिस्टों ने प्रतिभाग किया एवं कार्यक्रम को अत्यंत लाभकारी बताते हुए विश्व फार्मासिस्ट दिवस की उपलक्ष पर ऐसे आयोजन की आवश्यकता व्यक्त की। कार्यक्रम का संचालन आयोजक सचिव डॉ महेंद्र राणा ने किया कार्यक्रम में विभाग के डॉक्टर तीरथ कुमार डॉक्टर राजेश्वर कमलकांत डॉक्टर अमित जोशी राणा डॉक्टर विरेंद्र कौर आफ्टर लक्ष्मण रौतेला आफ्टर सुमित दुर्ग पाल डॉक्टर तनुज जोशी अरविंद जंतवाल, चंद्रकांता, प्रिया गुप्ता, मनीष पाठक सहित सभी शिक्षक कर्मचारी शामिल हुए।

Advertisement