कंप्यूटर लिट्रेसी कार्यक्रम के तहत सरकारी विद्यालयों में बच्चों को दी जा रही है कंप्यूटर की शिक्षा

Advertisement

नैनीताल l घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा पिथौरागढ़ के विभिन्न सरकारी प्राइमरी विद्यालयों में कंप्यूटर की शिक्षा और उस से जुड़े तथ्य बच्चों को बताए जा रहे हैं। संस्था की तरफ से नर्सी मौंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के छात्र अभिजीत और संस्था की प्रेमा सुतेरी द्वारा विभिन्न सरकारी प्राथमिक विद्यालयों के 300 से अधिक बच्चों को कंप्यूटर और उस से जुड़े पार्ट्स से अवगत कराया गया। एक्टिविटीज और खेल के माध्यम से बच्चों को रोचक जानकारी दी गई और प्रशिक्षण भी दिया गया। संस्था में ट्रेनिंग कर रहे छात्र अभिजीत ने बताया की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के इस दौर में भी हमारे उत्तराखंड में सरकारी विद्यालय के कई बच्चे कंप्यूटर और इसके रोचक तथ्य से वंचित हैं , और लैपटॉप देखते ही उनके आंखों में एक अलग सी चमक है , साथ ही वह इसे और ज्यादा जानने को इसमें कार्य करने को भी उत्सुक हैं। संस्था की प्रेमा सुतेरी द्वारा इस अभियान में बच्चों को हैंड तो हैंड प्रशिक्षण दिया जा रहा है जहां बच्चे कंप्यूटर खुद चलाना सीख रहे हैं, जो को उनके लिए नया और अच्छा अनुभव है।
संस्था अध्यक्ष ने बताया की पिथौरागढ़ में अधिकतर प्राथमिक विद्यालयों में कंप्यूटर शिक्षा का अभाव है जिसे देखते हुए संस्था द्वारा कंप्यूटर लिट्रेसी कार्यक्रम चलाया जा रहा है। U होने बताया की ट्रेनिंग के लिए आए अभिजीत भारत के जाने माने विश्वविद्यालय नर्सी मौंजी के छात्र हैं और वह बखूबी बच्चों को टेक्नोलॉजी से जोड़ने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा की संस्था का लक्ष्य बच्चों को शिक्षा और टेक्नोलॉजी से जोड़ कर नई राह दिखाना है ताकि वह जीवन में अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकें।

Advertisement