उपचार से बेहतर बचाव” विषय पर गोष्ठी संपन्न शरीर रूपी मंदिर की सुरक्षा पूजा के समान है -योगाचार्य तुलसी दास भाटिया

Advertisement

नैनीताल l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में “उपचार से बेहतर बचाव ” विषय पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया गया।य़ह कोरोना काल से 619 वां वेबिनार था।

योगाचार्य तुलसी दास भाटिया (जयपुर) ने हैल्थ केयर वा सिक केयर में अंतर समझाया और बताया कि यदि हम अनुशासित दिनचर्या के साथ स्वाद का संयम रखते हुए “बचाव” को अपना लें तो हमे कभी “उपचार” की आवश्यकता नहीं पड़ेगी,इसके लिए हमें “स्वास्थ्य प्रथम” है,इस बात को दिल वा दिमाग में बैठाना होगा।तुलसी दास भाटिया ने आगे बताया कि जिस शरीर को सुख देने के लिए हम दुनिया भर की सुविधाएं जुटाते हैं वो शरीर ही रोग ग्रस्त है तो सब किस काम का।शरीर एक मंदिर है और उसकी सुरक्षा पूजा के समान है। उन्होंने बताया कि नेचर मेड डाइट और मैन मेड डाइट में संतुलन रखते हुए थोड़ा योग वा एक्सरसाइज को अपना कर हम हमेशा स्वस्थ रह सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  मंदिर के चौथे वार्षिकोत्सव पर भंडारे का आयोजन

मुख्य अतिथि योगाचार्य डॉ. राम अवतार ने स्वस्थ रहने के घरेलु उपाय बताए।राष्ट्रीय मंत्री देवेन्द्र भगत ने अध्यक्षता करते हुए स्वास्थ्य प्रथम का महत्व बताया। परिषद अध्यक्ष अनिल आर्य ने कुशल संचालन किया व राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

यह भी पढ़ें 👉  आयुक्त दीपक रावत व जिलाधिकारी वंदना सिंह ने मतदान किया

गायिका पिंकी आर्य, प्रवीना ठक्कर, रविन्द्र गुप्ता, सुनीता अरोड़ा, कमला हंस, संतोष धर, उषा सूद, रजनी गर्ग, कृष्णा पाहूजा, कुसुम भंडारी आदि के मधुर भजन हुए।

Advertisement