आर्य युवक शिविर का छठा दिवस, दुर्गुण त्यागें सदगुण धारण करें- दर्शनाचार्या विमलेश बंसल चरित्रवान आर्य युवा राष्ट्र के भाग्य निर्माता बनेंगे -अनिल आर्य

Advertisement
Ad

नोएडा l केन्द्रीय आर्य युवक परिषद् के तत्वावधान में एमिटी इंटरनेशनल स्कूल,सेक्टर 44,नोएडा में डॉ. अमिता चौहान व डॉ. अशोक कुमार चौहान के सानिध्य में चल रहे “आर्य युवक चरित्र निर्माण शिविर” के छठे दिवस पर आचार्य महेंद्र भाई ने यज्ञ से शुभारंभ किया। मुख्य अतिथि के रूप में पधारी वैदिक विद्वान दर्शनाचार्या विमलेश बंसल ने शिविरार्थियों को संस्कृत के मधुर श्लोकों के माध्यम से चरित्र निर्माण और व्यक्तिगत विकास का सूत्र बड़ी ही मधुरता से प्रस्तुत किया।उन्होंने युवाओं से कहा की अपने बड़ों का सम्मान करें।उन्होंने कहा की दुर्गुणों को त्याग कर सद्गुणों को अपने जीवन मे उतारने का लक्ष्य बनाना चाहिए। गायिका पिंकी आर्या,सम्राट, सौमूल,अथर्व व कान्हा ने भजनों के माध्यम से सबका मन मोह लिया। इस अवसर पर परिषद के व्यायाम शिक्षक योगेन्द्र शास्त्री हरियाणा व रोहित सिंह दिल्ली को सम्मानित किया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि चरित्रवान आर्य युवा राष्ट्र के भाग्य निर्माता बनेंगे।चरित्र धन सबसे बड़ा है जो जीवन में सफलता प्रदान करेगा।उन्होंने महापुरुषों के जीवन को आत्मसात करने का आह्वान किया। राष्ट्रीय महामंत्री महेंद्र भाई ने भारत के गौरव पूर्ण इतिहास की जानकारी दी उन्होंने कहा कि युवाओं को अपने लुप्त इतिहास को पढ़ना चाहिए। हमारा इतिहास उत्साह व स्वाभिमान का प्रतीक है। अध्यक्षीय भाषण मे आर्य नेत्री रजनी गर्ग ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि सूर्य की भांति अपने जीवन को भी तेजोमय कर संसार मे अपना नाम चमकाने का आह्वान किया। इस अवसर पर प्रवीण आर्य, सौरभ गुप्ता,नसीब सिंह,विकास, प्रदीप व मोहित ने योगासन, प्राणायाम,लाठी,बाक्सिंग,सैनिक शिक्षा आदि आत्म रक्षा प्रशिक्षण दिया। प्रमुख रूप से यज्ञवीर चौहान, अरूण आर्य, विवेक अग्निहोत्री, सुरेश आर्य, अभिषेक, गौरव झा व आस्था आर्या आदि उपस्थित थे।

Advertisement

Advertisement
Ad Ad
Advertisement
Advertisement
Advertisement