ॐ श्री पाषाण देव्यै नमः।18 वां पाषाण देवी महोत्सवसंकलन व छायांकन -बृजमोहन जोशी

Advertisement



नैनीताल l 19 जनवरी से 21 जनवरी 2024 तक नैनीताल में श्री मां पाषाण देवी मन्दिर में अट्ठारहवे पाषाण देवी महोत्सव के आज दूसरे दिन कि पूजा का शुभारंभ आचार्य भगवती प्रसाद जोशी जी के द्वारा विघ्न विनाशक गणपति पूजन से आरम्भ हुआ। जिसमें आचार्य श्री जगदीश भट्ट,‌‌ श्री घनश्याम जोशी, श्री प्रमोद जोशी,‌ श्री अमित डालाकोटी जी द्वारा तथा वरिष्ठ आचार्य श्री भगवती प्रसाद जोशी जी के वैदिक मंत्रोंचारण के साथ मन्दिर में संयुक्त रुप से उपस्थित यजमानों,श्रृद्धालुओं के साथ पंचागी कर्म पूजन , श्री राम चन्द्र जी के परिवार का विधिवत पूजन किया गया। इसके पश्चात अखण्ड रामायण पाठ का शुभारंभ करने से पहले मुख्य आचार्य श्री भगवती प्रसाद जोशी जी ने सभी से निवेदन किया कि‌‌ हमें मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम चन्द्र जी के आदर्श से शिक्षा ग्रहण करने की आवशकता है । उन्होंने उपस्थित श्रृद्धालुओं/माताओं /महिलाओं से आग्रह किया कि हमें अपने -अपने बच्चों को श्री राम चन्द्र जी के‌ उस आदर्श कि जानकारी अवश्य अवश्य देनी चाहिए कि – पुत्र हो तो श्री राम जैसा जो पिता जी के वचन का मान रखने के लिए चौदह वर्षों के लिए वनवास को चला जाये, पत्नी हो तो जानकी जैसी, दूसरा भाई ऐसा जो उनके साथ वन को चलने को तैयार हो जाये, तीसरा भाई उनके चरण पादुकाओं का पूजन कर राज्य को चलाये । आज यह शिक्षा हमें घर-घर में अपने – अपने बच्चों को देनी नितान्त आवश्यकिय है। इसके बाद अखण्ड रामायण पाठ आरम्भ हुआ ।
पाषाण देवी मन्दिर के पुजारी जगदीश भट्ट जी ने बतलाया कि कि कल दिनांक 21-01-2024 को महोत्सव के तीसरे दिन अखण्ड रामायण पाठ के सम्पन्न होने के उपरान्त पहले हवन- पूर्णाहुति, फिर कन्या पूजन तथा इसके उपरांत अपराह्न 2 बजे से भण्डारा प्रारम्भ किया जायेगा । उन्होंने सभी श्रद्धालु भक्तों से निवेदन किया है कि वह अधिक से अधिक संख्या में इस धार्मिक कार्य में पधार कर मां पाषाण देवी का आशीर्वाद प्राप्त करेंगे, प्रसाद ग्रहण कर पुण्य के भागीदार बनेंगे।
इस महोत्सव को सफल बनाने में श्रृद्धालु भक्तो में पप्पू बिष्ट, प्रमोद सुयाल, नवीन तिवारी, रविन्द्र बिष्ट,देवांश,धीरज, पंकज, विवेक जोशी,राजेश मिश्रा, भूपेन्द्र सिंह, मोनिका साह, आशा, विनीता, कविता, गीता,हेमा, रौशनी, अंजलि, अतुल पन्त आदि सेवाऐं दे रहे हैं।

Advertisement