ए टेक्स्ट बुक ऑफ लाइकेन द लाइकेनिनाइज फंजाई पुस्तक का विमोचन फेलो ऑफ नेशनल एकेडमी तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय के विजिटिंग प्रोफेसर प्रो रूप लाल ने किया

Advertisement

नैनीताल l ए टेक्स्ट बुक ऑफ लाइकेन द लाइकेनिनाइज फंजाई पुस्तक का विमोचन फेलो ऑफ नेशनल एकेडमी तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय के विजिटिंग प्रोफेसर प्रो रूप लाल ने किया । पुस्तक को एलिट पब्लिशिंग हाउस न्यू दिल्ली द्वारा प्रकाशित किया गया है । लाइकेन जो फंजाई तथा शैवाल से मिलकर बनते है जी एक सिंबायोटिक एसोसिएशन है ।पुस्तक को 12 चैप्टर्स में रखा गया है जिसमें प्रस्तावना ,इतिहास ,कलेक्शन ,प्रिजर्वेशन ,मॉर्फोलॉजी ,एनाटोमी , हैबिट,रिप्रोडक्शन ,क्लासिफिकेशन ,फिजियोलॉजी ,केमिस्ट्री ,इकोलॉजी ,इकोनॉमिक इंपोर्टेंस ऑफ़
लाइकेन का वर्णन है । पुस्तक को प्रो सुरेश चंद्र सती पूर्व विभागाध्यक्ष वनस्पति विज्ञान डीएसबी तथा डॉक्टर प्रभा पंत वनस्पति विज्ञान द्वारा लिखा गया है ।पुस्तक बी एससी तथा एमएससी के विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है ।इस अवसर पर डीन साइंस प्रो चित्रा पांडे ,निदेशक विजिटिंग प्रोफेसर प्रो ललित तिवारी ,प्रो संजय पंत डी स डब्लू, प्रो हरीश बिष्ट विभागाध्यक्ष जंतु विभाग , डॉक्टर प्रभा पंत ,प्रो नीलू लोधियाल ,,प्रो सुषमा टम्टा, डॉक्टर नवीन पांडे ,डॉक्टर दीपक कुमार ,डॉक्टर मनोज आर्य ,डॉक्टर दीपिका गोस्वामी ,डॉक्टर हिमांशु लोहनी ,डॉक्टर संदीप मैंडोली ,डॉक्टर नेत्र पल शर्मा , डॉक्टर हर्ष चौहान आदि उपस्थित रहे । उधर भीमताल परिसर के जैव प्राधोगिकी विभाग में विजिटिंग प्रोफेसर ने बायोटेक्नोलॉजी इंट्रोडक्शन ,एप्लीकेशन एवम मिस कंसप्शन तथा रोल of कंप्यूटनल बायोलॉजी इन माइक्रोबियल इकोलॉजी विषय पर व्याख्यान दिया ।डॉक्टर रूप लाल नए कहा की वर्तमान में सारी सुविधाएं आपके पास है आप उसे कैसे प्रयोग करते है । उम्मीद बड़ी है । इस अवसर पर विभागाध्यक्ष प्रो तपन नैलवाल ,प्रो वीना पांडे ,डॉक्टर रिशेंद्र कुमार ,डॉक्टर संतोष उपाध्याय ,डॉक्टर दीपक कुमार ,डॉक्टर मयंक पांडे सहित शोधार्थी , बायो टेक्नोलॉजी तथा माइक्रोबायोलॉजी के विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Advertisement