कुमाऊं विश्वविद्यालय के वानिकी एवम पर्यावरण विभाग को इंडियन काउंसिल फॉर फॉरेस्ट्री रिसर्च एंड एजुकेशन द्वारा ए प्लस कैटेगरी प्रदान की गई

Advertisement

नैनीताल l कुमाऊं विश्वविद्यालय के वानिकी एवम पर्यावरण विभाग को इंडियन काउंसिल फॉर फॉरेस्ट्री रिसर्च एंड एजुकेशन द्वारा ए प्लस कैटेगरी प्रदान की गई है ।आईसीएफआरई द्वारा दिसंबर माह में विभाग का निरीक्षण तथा मूल्यांकन किया गया है ।विभागाध्यक्ष प्रो जीत राम इस आसय का प्रमाण पत्र कुलपति प्रो दीवान एस रावत को सौंपा।इस अवसर पर कुलपति प्रो रावत ने विभाग के कार्यों की प्रसंसा की तथा कहा की वानिकी विभाग बेहतर कार्य एवम शोध कर रहा है । वानिकी विभाग 1978 से प्रारंभ हुआ तथा शोध एवं उत्तराखंड के जंगल के अध्यन के लिए जाना जाता है ।प्रो जीत राम ने कहा की प्रो एलएस लोधियल ,प्रो आशीष तिवारी ,डॉक्टर नीता आर्य , डॉक्टर बिजेंद्र लाल ,डॉक्टर नंदन बिष्ट ,डॉक्टर कुबेर गिनती ,डॉक्टर ईरा तिवारी ,डॉक्टर मैत्री नारायण सहित विभाग के कर्मचारियों एवम शोधार्थियों एवं विद्यार्थियों के मेहनत का ये सुखद परिणाम है । आईसीएफआरइ हर पांच साल में संबंधित विभागों का पैनल करता है ।कूटा अध्यक्ष प्रो ललित तिवारी एवम महासचिव डॉक्टर विजय कुमार ने वानिकी विभाग की मेहनत पर उन्हें बधाई एवं मुबारकबाद दी है ।

Advertisement