घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा धूमधाम से मनाया गया संस्था का नौवां वार्षिकोत्सव, एजुकेशन ऑन व्हील्स कार्यक्रम का शुभारंभ

Advertisement

नैनीताल l घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा वार्षिकोत्सव के मौके पर ” एजुकेशन ऑन व्हील्स ” कार्यक्रम शुरू किया गया। आज जिलाधिकारी रीना जोशी ने संस्था के वाहन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इसके बाद संस्था की 16 वर्षीय सपना और प्रेमा ने जिलाधिकारी को बताया की एजुकेशन ऑन व्हील्स कार्यक्रम ड्रॉपआउट बच्चों खासकर बालिकाओं के लिए वरदान साबित होगा। प्रेमा बताती है की नेपाल, बिहार और अन्य जिलों से आए मजदूरों के बच्चे शिक्षा से वंचित रहते हैं, जिसे देखते हुए इस कार्यक्रम को तय किया गया।
9 साल पूरी कर चुकी संस्था बालश्रम, बाल भिक्षा और शिक्षा के छेत्र में अपना अहम योगदान देने का कार्य कर रही है। इस वर्ष संस्था द्वारा एक अनूठी पहल की जा रही है, जिसके अंतर्गत संस्था शिक्षा से वंचित बच्चों को उनके घर या स्थानों में जाकर शिक्षा से जोड़ने का कार्य करेगी। एजुकेशन ऑन व्हील्स कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के छेत्र में नए आयाम स्थापित करना है और वंचित बच्चों को शिक्षा और समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है। जिलाधिकारी ने संस्था की सराहना करते हुए उनका हौसला बढ़ाया और कहा की यह बहुत अच्छी पहल है, जो पिथौरागढ़ में शिक्षा का प्रचार प्रसार करने में अहम भूमिका निभाएगी।
संस्था अध्यक्ष ने बताया की आज संस्था का पिथौरागढ़ जैसे सुदूर छेत्र में घर- घर शिक्षा पहुंचाने का सपना साकार हो रहा है। विगत 5 वर्षों से संस्था इस पर रिसर्च कर रही थी और आज वार्षिकोत्सव के मौके पर कुमाऊं छेत्र में पहली बार इस तरह को शिक्षा योजना को घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी द्वारा लागू किया जा रहा है। उन्होंने बताया की संस्था पिछले 9 सालों में भारत के 119 शहरों में 14000 से ज्यादा जागरूकता अभियान चला 4 लाख से ज्यादा लोगों को बालश्रम और बालभिक्षा के लिए जागरूक कर चुकी है। उन्होंने कहा की “एजुकेशन ऑन व्हील्स” कार्यक्रम शिक्षा और साक्षरता के छेत्र में अतुलनीय योगदान है , जिसका असर आने वाले 10 वर्षों में देखा जा सकेगा। इस मौके पर संस्था की सचिव प्रेमा सुतेरी, गिरीश चंद्र , बच्चे और स्कॉलर्स एकेडमी के जग ज्योति जोशी,जानकी बोरा , अनिता कापड़ी, दीपा जुकरिया , पूर्णिमा और अन्य स्वयंसेवक मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी के बच्चे एवं सदस्य वृद्ध लोगों को चुनाव केंद्र पहुंचाने में कर रहे मदद

संस्था की उपलब्धियां:
उत्तराखंड की पहली संस्था जिसने शिक्षा और जागरूकता के छेत्र में नेशनल अवॉर्ड, लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज किया है। संस्था 17000 से अधिक बच्चों को शिक्षा की मुख्य से जोड़ने का कार्य कर रही है, साथ ही विद्यालय न जाने वाले दर्जनों बच्चों का दाखिला संस्था द्वारा विद्यालयों में कराया गया है। संस्था द्वारा बच्चों के लिए चाइल्ड केयर होम भी चलाया जा रहा है, जिसमें उन्हें निशुल्क शिक्षा , भोजन और अन्य सुविधाएं दी जाती हैं। बच्चों के साथ साथ बुजोर्गों, महिलाओं और गरीब वर्ग के लिए भी संस्था पिथौरागढ़ में राशन और अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने का काम कर रही है।

Advertisement