उत्तराखंड पर्यटन विभाग तथा पर्यटन एवं आतिथ्य कौशल परिषद के तत्वाधान में नेचर गाइड पूर्व कौशल और अनुभव को मान्यता के तहत दस दिवसीय निशुल्क कार्यशाला शुरू

Advertisement

नैनीताल। उत्तराखंड पर्यटन विभाग तथा पर्यटन एवं आतिथ्य कौशल परिषद के तत्वाधान में नेचर गाइड पूर्व कौशल और अनुभव को मान्यता के तहत दस दिवसीय निशुल्क कार्यशाला का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि माननीय पूनम चंद अपर निदेशक पर्यटन विभाग उत्तराखंड के द्वारा कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। अपर निदेशक पर्यटन विभाग उत्तराखंड पूनम चंद ने बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा उत्तराखंड में नेचर गाइड प्रोग्राम चलाया जा रहा है उसी के तहत 20 सितंबर से 20 दिसंबर तक पूरे राज्य में 500 नेचर गाइड का प्रशिक्षण का कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसी क्रम में 14 अक्टूबर से कुमाऊ मंडल विकास निगम सूखाताल के सभागार में कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया । उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग का उद्देश्य है की प्रकृति को पर्यटन से सीधा जोड़ा जाए ।प्रकृति के साथ पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए भी काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यटन और प्रकृति में आपस में संतुलित बनाए जाना को लेकर लगाातार वन विभाग और पर्यटन विभाग द्वारा काम किया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान नैना देवी वन संभाग के सब डिविजनल ऑफिसर राज कुमार ने वनों में कार्य करने के दौरान अपने अनुभव साझा करते हुए सभी प्रतिभागियों को अच्छे भविष्य की शुभ कामना दी।
इस कार्यक्रम में टीएचएससी की ओर से दिनेश कुमार ढींगरा द्वारा बच्चों के उज्जवल भविष्य कामना को गई।

Advertisement